वाशिंगटन, एएनआइ। पेंटागन ने सोमवार को घोषणा की कि 20 साल के अमेरिकी सैन्य अभियानों के बाद अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी पूरी हो गई है। अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन ने ट्वीट कर बताया कि अफगानिस्तान छोड़ने वाला आखिरी अमेरिकी सैनिक मेजर जनरल क्रिस डोनह्यू (Major General Chris Donahue) हैं, जो 30 अगस्त को सी-17 विमान में सवार हुए और यह काबुल में अमेरिकी मिशन के अंत का प्रतीक है। इसके साथ ही यूएस सेंट्रल कमांड के कमांडर जनरल केनेथ मैकेंजी ने पेंटागन न्यूज कॉन्फ्रेंस के दौरान अफगानिस्तान से अमेरिकी वापसी को पूरा करने की घोषणा की। 

जनरल केनेथ मैकेंजी ने कहा कि मैं यहां अफगानिस्तान से अपनी वापसी के पूरा होने और अमेरिकी नागरिकों को निकालने के लिए सैन्य मिशन की समाप्ति की घोषणा करने के लिए हूं। मैकेंजी ने बताया कि आखिरी अमेरिकी सी-17 सैन्य विमान ने हामिद करजई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से आधी रात को उड़ान भरा। उन्होंने कहा तालिबान दोनों पक्षों के बीच गहरी दुश्मनी के बावजूद निकासी और अंतिम उड़ानों के संचालन में बहुत मददगार और उपयोगी रहा है। 

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने तय की थी समयसीमा

बता दें कि अल कायदा द्वारा अमेरिका पर 11 सितंबर 2001 के हमलों के बाद 2001 में ही तालिबान को सत्ता से बेदखल करने के लिए अमेरिकी सैनिक नाटो गठबंधन के नेतृत्व में अफगानिस्तान आए थे। राष्ट्रपति जो बाइडन ने इस साल की शुरुआत में अमेरिकी सेना की वापसी के लिए 31 अगस्त की समय सीमा तय की थी। वहीं, इस्लामिक स्टेट-खुरासन (IS-K) ने दो सप्ताह के निकासी अभियान के दौरान दो हमले किए थे। एक आत्मघाती बम विस्फोट में 13 अमेरिकी सैनिकों सहित 120 से अधिक लोग मारे गए थे। इसके बाद भारी सुरक्षा के बीच काबुल हवाई अड्डे से अंतिम उड़ान संपन्न हुई हैं। 

Edited By: Dhyanendra Singh Chauhan