सैन फ्रांसिस्को, आइएएनएस। डाटा चोरी और डाटा लीकेज को लेकर लगातार सवालों का सामना कर रहे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक के सामने फिर मुश्किल खड़ी हो सकती है। अमेरिकी साइबर सिक्योरिटी फर्म अपगार्ड का कहना है कि फेसबुक के कुछ एप डेवलपर्स ने अमेजन के क्लाउड सर्वर पर करोड़ों यूजर्स के डाटा असुरक्षित छोड़ दिए थे।

अपगार्ड ने बताया कि करीब 54 करोड़ यूजर्स के डाटा असुरक्षित रूप से इंटरनेट पर पब्लिक डोमेन में छोड़ दिए गए थे। इनमें यूजर्स के कमेंट, लाइक्स, रिएक्शन, अकाउंट नेम, फेसबुक आइडी और ऐसी ही अन्य जानकारियां शामिल हैं। इनमें बड़े पैमाने पर डाटा का स्नोत मेक्सिको की एक मीडिया कंपनी कल्ट्यूरा कलेक्टिवा है। फेसबुक के इंटीग्रेटेड एप ‘एट द पूल’ से भी बड़े पैमाने पर यूजर्स के डाटा असुरक्षित रूप से इंटरनेट पर छोड़ दिए गए थे। अपगार्ड ने बताया कि ‘एट द पूल’ से जो डाटा लीक हुआ, वह संख्या में बहुत ज्यादा नहीं था, लेकिन अधिक संवेदनशील था। इसमें 22,000 यूजर्स का पासवर्ड असुरक्षित रूप से सार्वजनिक कर दिया गया था।

अपगार्ड ने कहा, ‘डाटा चोरी के मामलों को लेकर जांच का सामना कर रहे फेसबुक ने अपने प्लेटफॉर्म पर थर्ड पार्टी एक्सेस को कम करने के लिए कई कदम उठाए हैं, लेकिन हाल में सामने आए मामले बताते हैं कि यह इतना भी आसान नहीं है। फेसबुक यूजर्स का डाटा आज की तारीख में इतनी जगह पर पहुंच चुका है कि खुद फेसबुक के लिए इसे नियंत्रित करना मुश्किल है।’ 

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप