वाशिंगटन, न्यूयॉर्क टाइम्स। से बीते कुछ वर्षों में जहां मोटापा दुनियाभर में सबसे बड़ी स्वास्थ्य समस्या बनने लगा है, वहीं दूसरी तरफ लोग फिटनेस के प्रति जागरूक भी हुए हैं। वजन घटाने और अच्छी सेहत के लिए लोग अपनी सहूलियत के हिसाब से व्यायाम या योग करते हैं। हालांकि, घंटों व्यायाम के बाद भी कुछ लोग जल्दी वजन नहीं घटा पाते हैं।

अब तक विशेषज्ञों का मानना था कि खानपान की आदत में सुधार ना करने के चलते ऐसा होता है। कई बार तो वजन घटने के बजाय बढ़ जाता है। एक नए शोध में सामने आया है कि वजन ना घटने के लिए केवल खानपान ही जिम्मेदार नहीं है। इसके पीछे कई अन्य कारण भी हैं, जिनमें व्यायाम करने का समय भी शामिल है।

एक दशक से चल रहा था शोध

हर व्यक्ति पर व्यायाम के असर का पता लगाने के लिए यूनिवर्सिटी ऑफ नार्थ कैरोलिना के डाटा विश्लेषक एरिक विल्स करीब एक दशक से शोध कर रहे थे। इस शोध में उनके साथ यूनिवर्सिटी ऑफ कंसास और यूनिवर्सिटी ऑफ कोलोराडो डेनवर के सहयोगी भी शामिल रहे। पहले उन्होंने मोटापे के शिकार 100 लोगों का अध्ययन किया। इस दौरान उन सभी को हफ्ते में पांच दिन एक जैसा ही वर्कआउट करना था। 10 महीने व्यायाम करने के बाद भी सबका वजन समान रूप से नहीं घटा था।

शोधकर्ताओं के लिए यह परिणाम अजीब था, क्योंकि वह सब एक ही तरह का व्यायाम कर रहे थे। अब वैज्ञानिकों को इसका कारण ढूंढना था। वह जानना चाहते थे कि आखिर क्या वजह है कि व्यायाम का सब पर एक समान असर नहीं होता है। इसके लिए उन्होंने फिर शोध किया। इस बार प्रतिभागियों से वर्कआउट कराने के साथ उनके खाने और वर्कआउट के समय का भी डाटा जुटाया गया।

दोपहर बाद व्यायाम से कम होता है असर

विल्स और उनकी टीम ने शोध में इकट्ठा किए गए डाटा का विश्लेषण किया। इसमें पाया गया कि व्यायाम कितनी देर किया गया और किस वक्त किया गया, दोनों बातों का बराबर महत्व है। दोपहर 12 बजे से पहले व्यायाम करने वालों का वजन तेजी से कम होता है। वहीं, दोपहर तीन बजे के बाद व्यायाम का असर प्राय: कम हो जाता है। इसका कारण बताते हुए विल्स ने कहा, ‘सुबह व्यायाम करने वाले दिनभर तरोताजा और अधिक सक्रिय रहते हैं। उनकी शारीरिक क्रिया भी अधिक होती है और वह अन्य के मुकाबले प्रतिदिन औसतन 100 कैलोरी कम ग्रहण करते हैं।’ शोध में यह भी देखा गया कि आमतौर पर दोपहर 12 से तीन बजे तक लोग व्यायाम नहीं करते हैं।

बेकार नहीं है शाम का व्यायाम

शोधकर्ताओं ने कहा कि सुबह व्यायाम का असर ज्यादा होने का यह मतलब नहीं है कि शाम को व्यायाम करना बेकार है। लोगों को जब सहूलियत हो, उन्हें व्यायाम करना चाहिए। व्यायाम किसी भी वक्त किया जाए, सेहत के लिए अच्छा होता है। शाम को व्यायाम करने से धीरे-धीरे ही सही, लेकिन वजन कम होता है। इसके अलावा नियमित व्यायाम सेहत से जुड़ी कई अन्य परेशानियों को भी कम करता है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjay Pokhriyal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप