क्विटो, एएफपी। लैटिन अमेरिकी देश इक्वाडोर के कोरोना प्रभावित शहर गुयाक्विल (Guayaquil) की गलियों में पड़े शवों को लेकर उपराष्ट्रपति ओटो सोनेनहोल्जनर ने जनता से माफी मांगी है। स्थानीय लोगों ने इन शवों की तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट की थी। तटीय शहर गुयाक्विल की गलियों में ऐसे लावारिश शवों की संख्या करीब 150 है। कोरोना संक्रमण को लेकर खौफ ऐसा है कि लोग शवों के पास नहीं जा रहे। देश में कोरोना के खिलाफ लड़ाई की अगुआई कर रहे उपराष्ट्रपति ने कहा कि उन्होंने इससे पहले कभी ऐसा नहीं देखा था।

उपराष्ट्रपति ओटो सोनेनहोल्जनर (Otto Sonnenholzner) ने माफी मांगते हुए उन्होंने शवों को हटाने का आदेश जारी किया है। अधिकारियों ने इस हफ्ते की शुरुआत में 150 शवों को सड़कों और घरों से अपने कब्‍जे में लिया है लेकिन इस बात की पुष्टि नहीं की कि मृतकों में से कितनों को कोरोना संक्रमण था। उपराष्ट्रपति ओटो सोनेनहोल्जनर (Otto Sonnenholzner) ने अपने बयान में कहा है कि हमने जो तस्‍वीरें देखीं हैं... उन्‍हें वैसा नहीं होना चाहिए था। मैं इसके लिए माफी मांगता हूं। बता दें कि इक्वाडोर में कोरोना वायरस से 3,500 लोग संक्रमित हैं जबकि 172 मरीजों की मौत हो चुकी है। संक्रमण रोकने के लिए देश में आपातकाल लगा दिया गया है। 

उल्‍लेखनीय है कि चीन के वुहान से शुरू होने वाला कोरोना वायरस अब दुनिया के करीब 200 देशों तक फैल चुका है। हालांकि वुहान में स्थितियां धीरे-धीरे सामान्य हो रही हैं। इसकी एक बानगी उस समय मिली जब जिले के नौ इलाकों को 'लो रिस्क' घोषित कर दिया गया जबकि चार अन्य इलाकों को 'मीडियम रिस्क' वाला घोषित किया गया है। 5.6 करोड़ की आबादी वाले हुबेई प्रांत का अब कोई भी जिला 'हाई रिस्क' की श्रेणी में नहीं है। वहीं चीन में संक्रमण के 30 नए मामले सामने आए हैं। इसमें स्थानीय संक्रमण के पांच मामले शामिल हैं। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस