न्यूयॉर्क, रायटर। यह चर्च के प्रति आस्थावान लोगों को विचलित करने वाली खबर है। अमेरिका में 70 से ज्यादा लोगों ने रोमन कैथलिक चर्च के खिलाफ मुकदमा दायर कर कार्रवाई की मांग की है। इन लोगों ने याचिका में बचपन में पादरियों द्वारा किए गए यौन शोषण की आपबीती बयां की है और बताया है कि किस तरह से चर्च के बड़े पदाधिकारी पादरियों के कृत्यों पर पर्दा डाला करते थे।

बता दें कि अमेरिका में बाल यौन शोषण के खिलाफ नया कानून बुधवार से ही प्रभाव में आया है और पहले ही दिन इतनी बड़ी संख्या में याचिका दायर की गई हैं। इस कानून के तहत दशकों पुरानी घटनाओं के आधार पर मुकदमा चलाया जा सकता है।

नए कानूनी प्रावधान के बाद अब चर्च, स्कूल और गैर सरकारी संगठनों के खिलाफ सैकड़ों मामले दर्ज होने की संभावना है। न्यूयॉर्क काउंटी सुप्रीम कोर्ट के अनुसार एक मुकदमा ब्वाय स्काउट्स ऑफ अमेरिका के खिलाफ दायर हुआ है।

यह संगठन बच्चों के यौन शोषण के लिए बदनाम है। एक महिला ने फायनेंसर जेफ्री एपस्टीन के खिलाफ भी याचिका दी है। महिला जब कम उम्र की थी तब एपस्टीन ने उसका यौन शोषण किया था। एपस्टीन पर इस तरह के दर्जनों आरोप थे।

उसने हाल ही में न्यूयॉर्क की जेल में आत्महत्या कर ली है। महिला ने मुकदमे के लिए अर्जी तब दी थी जब एपस्टीन जिंदा था। लॉ फर्म विट्ज एंड एएमपी लक्जेनबर्ग ने कहा है कि उसके पास बाल यौन शोषण के 1,200 से ज्यादा मामले हैं, आने वाले दिनों में इनकी संख्या और बढ़ सकती है।

Posted By: Dhyanendra Singh