वाशिंगटन, पीटीआइ। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप हमेशा से विवादों में रहे हैं। कई महिलाएं यौन उत्‍पीड़न का गंभीर आरोप भी उन पर लग चुकी हैं। इस बीच ट्रंप ने सोमवार को लेखिका ई जीन कैरोल की ओर से उन पर लगाए गए दुष्‍कर्म के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। ट्रंप ने कैरोल के सभी आरोपों को सिरे से नकार दिया। ट्रंप ने कहा कि ये सभी आरोप झूठे हैं, वह मेरे टाइप की ही नहीं है। बता दें कि कैरोल ने ट्रंप पर सन 1990 में न्‍यूयॉर्क के एक डिपार्टमेंट स्‍टोर में उनके साथ बलात्‍कार करने की कोशिशों का आरोप लगाया है।

एक इंटरव्‍यू के दौरान ट्रंप ने कहा, 'मैं बेहद सम्‍मान के साथ कहना चाहूंगा कि एक तो वह वह मेरे टाइप की नहीं हैं। दूसरा, ऐसा कभी हुआ ही नहीं।' बता दें कि ट्रंप का यह इंटरव्‍यू व्‍हाइट हाउस के ओवल ऑफिस में हुआ था। इस दौरान ट्रंप ने लेखिका के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि वह पूरी तरह से झूठ बोल रही थीं, जब इस तरह के दावे कर रही थीं। मैं इस महिला को नहीं जानता हूं। मुझे उनके बारे में कुछ भी नहीं मालूम है।'

गौरतलब है कि न्‍यूयॉर्क की एक पत्रिका ने पिछले दिनों कैरोल के हवाले से एक लेख लिखा, जिसमें ट्रंप पर कई गंभीर आरोप लगाए। इसके तुरंत बाद डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा था कि वह इस इंसान से अपनी जिंदगी में कभी नहीं मिले हैं। कैरोल 16वीं महिला हैं जिन्‍होंने ट्रंप पर गलत यौन व्‍यवहार का आरोप लगाया है। कैरोल ने ट्रंप का जिक्र अपनी आने वाली किताब 'Hideous Men' में भी किया है।

कैरोल ने बताया कि 1990 के मध्‍य में ट्रंप ने उनके साथ जबर्दस्‍ती करने की कोशिश की, लेकिन कैरोल ने पूरी ताकत के साथ ट्रंप को धक्‍का किसा और स्‍टोर से बाहर आ गईं। हालांकि, कैरोल पहली महिला नहीं हैं, जिन्‍होंने ट्रंप पर गंभीर आरोप लगाए हैं, लेकिन ट्रंप ने अभी तक सभी आरोपों को झूठा करार दिया है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप