वॉशिंगटन,एपी। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने किम जोंग को लेकर यू टर्न लिया है। ट्रंप ने कहा कि वह उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के परिवार के सदस्यों का उपयोग करने की मंजूरी अमेरिकी खुफिया एजेंसियों को नहीं देंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति का यह बयान एक अंग्रेजी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट के बाद आया है। दरअसल, उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के सौतेले भाई किम जोंग नम (Kim Jong Nam) की साल 2017 में मलेशिया में हत्या कर दी गई थी। रिपोर्ट के मुताबिक किम जोंग नम सीआइए (अमेरिकी इंटेलिजेंस एजेंसी) का मुखबिर था।

ट्रंप ने कहा कि वह द वॉल स्ट्रीट जर्नल द्वारा सोमवार को प्रकाशित अमेरिकी खुफिया के किम जोंग नैम के कथित संपर्कों के बारे में आई रिपोर्ट से अवगत है।  अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि  उत्तर कोरियाई नेता के लिए मेरा संदेश यह होगा कि, 'मैं ऐसा नहीं होने दूंगा।' रिपोर्ट में कहा गया है कि CIA (Central Intelligence Agency) के साथ किम जोंग नम के संबंध के कई विवरण अभी अस्पष्ट हैं। खबरों के मुताबिक CIA ने इसपर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। एक व्यक्ति का हवाला देते हुए रिपोर्ट में कहा गया है कि CIA और किम जोंग नम के बीच सांठगांठ थी।

ट्रंप ने कहा कि वह द वॉल स्ट्रीट जर्नल द्वारा सोमवार को प्रकाशित अमेरिकी खुफिया के किम जोंग नैम के कथित संपर्कों के बारे में आई रिपोर्ट से अवगत थे।  अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि  उत्तर कोरियाई नेता के लिए मेरा संदेश यह होगा कि, 'मैं उनके परिवार का इस्तेमाल नहीं होने दूंगा।' ट्रंप ने कहा कि किम ने उन्हें एक पत्र मिला है। किम अपनी बात पर कायम है हालांकि, उस पत्र में क्या लिखा है ट्रंप ने इसके बारे में कोई जानकारी नहीं दी है। उत्तर कोरिया के साथ संबंधों की देखरेख करने वाले दक्षिण कोरिया के राष्ट्रीय खुफिया सेवा और एकीकरण मंत्रालय के अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि वे किम जोंग नम की रिपोर्ट की पुष्टि नहीं कर सकते हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ayushi Tyagi