लंदन, एएनआइ। अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप अपने खिलाफ चलाए जा रहे अभियोग मामलों को रोक के लिए शीर्ष अदालत जा सकते हैं। दो दिवसीय नाटो समिट में हिस्‍सा लेने के लिए लंदन पहुंचने के बाद ट्रंप ने इस तरह का बयान दिया है।

ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘अभी-अभी यूनाइटेड किंगडम पहुंचा, कल होने वाले नाटो समिट के लिए लंदन जा रहा हूं। यहां लैंडिंग से पहले झूठे अभियोग मामलों पर रिपब्लिकन रिपोर्ट को पढ़ा। ग्रेट जॉब!’

ट्रंप पर आरोप है कि उन्होंने अपने डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं। इसके लिए उन्‍होंने यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की से गैरकानूनी तौर पर मदद मांगी थी। बता दें कि ट्रंप ने अपने ऊपर लगाए गए महाभियोग के तमाम आरोपों को खारिज कर दिया है। बुधवार से ट्रंप के खिलाफ महाभियोग मामलों की सुनवाई शुरू होगी लेकिन व्‍हाइट हाउस की ओर से इसमें शामिल होने से इंकार कर दिया गया है। 

उल्‍लेखनीय है कि व्हाइट हाउस ने हाउस ज्यूडिशरी कमेटी को सूचित किया है कि वह बुधवार को प्रस्तावित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ समिति के पहले महाभियोग जांच में शामिल नहीं होगा। व्हाइट हाउस के वकील पैट किपोलोने ने हाउस ज्यूडिशरी कमेटी के अध्यक्ष जैरी नाडलर को पत्र लिखकर इस बारे में बताया। पत्र में उन्‍होंने लिखा, ‘हम इसमें शामिल होना उचित नहीं समझते क्‍योंकि गवाहों के नाम अभी तक जाहिर नहीं किया गया है।’ पत्र में उन्‍होंने यह भी सवाल किया है कि इस पूरी प्रक्रिया में राष्ट्रपति के मामले की निष्पक्ष सुनवाई की जाएगी या नहीं।

इससे पहले अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने डेमोक्रेट की निंदा की थी कि ऐसे समय में ज्‍यूडिशियरी कमिटी बनाने और अभियोग मामलों की सुनवाई करने का क्‍या मतलब है जब वे नाटो समिट में शामिल होने जा रहे हैं।

 

Posted By: Monika Minal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप