वाशिंगटन, एजेंसियां। कोरोना वैक्सीन आने के बाद राहत महसूस कर रहे दुनियाभर के देशों में फिलहाल महामारी का कहर जारी है। चीन में कोरोना की दूसरी लहर में महामारी अब देहात क्षेत्रों में फैलने की आशंका हो गई है। ब्रिटेन सहित यूरोप के तमाम देशों में अभी मरीजों की संख्या में कोई कमी नहीं है। विश्व में कोरोना मरीजों की संख्या नौ करोड़ से ऊपर पहुंच गई है और मरने वालों का आंकड़ा एक करोड़ 96 लाख पहुंच गया है। चीन में पांच माह में अब सबसे ज्यादा मरीजों की संख्या हर रोज सामने आ रही है। अब तक सात शहरों में लॉकडाउन लगा दिया गया है। ज्यादातर नए मामले राजधानी बीजिंग के आसपास के क्षेत्रों में हैं। यहां दो करोड़ अस्सी लाख से ज्यादा लोग क्वारंटाइन हैं। 

चीन के देहाती क्षेत्रों में महामारी फैलने की आशंका हो गई है। यहां चीनी सरकार ने नए सिरे से रोकथाम के प्रयास शुरू कर दिए हैं। हेबेई प्रांत में भी तीन शहरों में लॉकडाउन कर दिया गया है। चीन फरवरी में चीनी कैलेंडर के अनुसार नया साल है, इसको लेकर मामले बढ़ने की आशंका हो गई है।

डब्लूएचओ की टीम एक माह तक रहेगी वुहान में

वुहान से कोरोना वायरस की शुरूआत होने की जांच करने वाली डब्लूएचओ की टीम एक माह तक वहां रहेगी। इस टीम में दुनियाभर के वैज्ञानिक शामिल हैं। गुरुवार को दस सदस्यीय टीम सिंगापुर से वुहान जाएगी। 

अमेरिका में एक दिन में 43 सौ से ज्यादा मरे

अमेरिका में बेशक वैक्सीन लगाए जाने का काम शुरू हो गया है, लेकिन कोरोना का कहर जारी है। यहां एक दिन में 43 सौ से ज्यादा मौत का आंकड़ा पहुंच गया। यहां अब तक तीन लाख अस्सी हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है।

हवाई यात्रियों के लिए कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट जरूरी

अमेरिका ने नए निर्देश जारी करते हुए सभी हवाई यात्रियों के लिए कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट जरूरी कर दी है। रिपोर्ट तीन दिन से पुरानी नहीं होनी चाहिए। यह निर्देश 26 जनवरी से अमल में आ जाएंगे। 

ब्रिटेन में महामारी तेजी पर

ब्रिटेन में पिछले 24 घंटों के दौरान 45 हजार से ज्यादा नए मरीज सामने आए हैं। एक दिन में बारह सौ से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। 

जापान में नए क्षेत्रों में इमरजेंसी

जापान में राजधानी टोक्यो के आसपास के सात नए क्षेत्रों में इमरजेंसी लागू की गई है। यहां कोरोना के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। 

चीन-रूस निशाना बना रहे हैं वैक्सीन की सप्लाई चेन 

वाशिंगटन, एएनआइ। अमेरिका की नेशनल काउंटर इंटेलिजेंस एंड सिक्योरिटी सेंटर (एनसीएससी) ने कहा है कि चीन और रूस वैक्सीन की सप्लाई चेन को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं। एनसीएससी के उच्च अधिकारी विलियम इवानीना ने एक कार्यक्रम में कहा कि यह गंभीर समस्या है। इससे पहले एफबीआइ के अधिकारी और आइबीएम ने भी इस बात की जानकारी दी थी कि कोल्ड स्टोर और अन्य वैक्सीन के स्थानों को हैकर अपना निशाना बना रहे हैं। इन हमलों के पीछे भी चीन और रूस का हाथ बताया गया था।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021