न्यूयॉर्क, एजेंसियां। अमेरिका में कोरोना महामारी का केंद्र बने न्यूयॉर्क शहर ने पीड़ितों के मामले में चीन और ब्रिटेन को पीछे छोड़ दिया है। इस शहर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या एक लाख के पार पहुंच गई है। न्यूयॉर्क शहर में रविवार को 5,695 नए मामलों के साथ पीड़ितों की संख्या बढ़कर एक लाख चार हजार 410 हो गई। शहर में अब तक 6,898 पीड़ितों की मौत हुई है। पूरे अमेरिका में अब तक कुल पांच लाख 60 हजार से ज्यादा संक्रमित पाए गए हैं और 22 हजार से ज्यादा लोग दम तोड़ चुके हैं।

जांस हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार, चीन और ब्रिटेन से ज्यादा मामले न्यूयॉर्क शहर में हो गए हैं। ब्रिटेन में 85 हजार से ज्यादा और चीन में करीब 83 हजार कोरोना मामले हैं। जबकि पूरे न्यूयॉर्क राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या एक लाख 90 हजार हो गई है। यहां तकरीबन दस हजार पीड़ितों की मौत भी हो चुकी है। न्यूयॉर्क के मेयर बिल डी ब्लासियो ने रविवार को कहा कि शहर के अस्पतालों के लिए पिछला हफ्ता काफी मुश्किलों और तकलीफ वाला रहा। गवर्नर एंड्रयू कुओमो ने बताया कि बीते 24 घंटे के दौरान राज्य में 758 और पीड़ितों की मौत हो गई। नए मामलों की दर में निरंतर गिरावट के बीच यह भयावह खबर है। उन्होंने कहा कि वह राज्य की अर्थव्यवस्था को दोबारा खोलने की योजना पर न्यूजर्सी और कनेक्टिकट राज्यों के साथ मिलकर काम करेंगे। हर किसी के दिमाग में यही सवाल है कि अर्थव्यवस्था कब खुलेगी?

नर्सिग होम्स में 3600 की गई जान

अमेरिका में नर्सिग होम्स और देखभाल केंद्रों में अब तक 3,600 ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। संघीय सरकार ने हालांकि इस बारे में कोई आंकड़ा जारी नहीं किया है। लेकिन समाचार एजेंसी एपी ने मीडिया में आई खबरों और अमेरिकी राज्यों के स्वास्थ्य विभागों के डाटा के आधार पर यह जानकारी जुटाई है। विशेषज्ञों का कहना है कि इस तरह के केंद्रों में दस लाख से ज्यादा बुजुर्ग रहते हैं। इसलिए मरने वालों का आंकड़ा और ज्यादा हो सकता है।

मई में खुल सकती है अमेरिकी अर्थव्यवस्था

कोरोना महामारी से अमेरिका की ठप पड़ी अर्थव्यवस्था को खोलने की तैयारी दिखने लगी है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शंस डिजीज के निदेशक और कोरोना वायरस पर व्हाइट हाउस टास्क फोर्स के सदस्य एंटोनी फासी ने रविवार को कहा कि कुछ हद तक हालात सामान्य होने पर दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था को आंशिक तौर पर खोलने की शुरुआत मई में हो सकती है। उन्होंने हालांकि इस बात को लेकर सचेत भी किया कि महामारी का दूसरा दौर शुरू हो सकता है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी हाल में यह भरोसा जताया था कि आने वाले महीनों में अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट आएगी। कोरोना के कहर से 33 करोड़ की आबादी वाले अमेरिका में जनजीवन पूरी तरह ठहरा है। लगभग 95 फीसद आबादी घरों में कैद है। बीते तीन हफ्तों में ही करीब 1.7 करोड़ लोग बेरोजगार हो गए। 66 लाख अमेरिकियों ने बेरोजगारी लाभ के लिए आवेदन किए हैं।

टास्क फोर्स के सदस्य एंटोनी से ट्रंप नाराज

राष्ट्रपति ट्रंप ने एंटोनी फासी को हटाने की अपील को रीट्वीट किया है। इससे यह अनुमान लगाया जा रहा है कि ट्रंप टास्क फोर्स से एंटोनी की छुट्टी कर सकते हैं। संक्रामक बीमारियों के शीर्ष अमेरिकी विशेषज्ञ एंटोनी ने रविवार को प्रसारित एक इंटरव्यू में कहा था कि देश में अगर जल्दी लॉकडाउन किया गया होता तो बहुतों की जिंदगी बचाई जा सकती थी। ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी के एक नेता ने इस बयान का हवाला देकर ट्वीट किया था, 'फासी को बर्खास्त करने का समय।' ट्रंप ने बाद में इस ट्वीट को रीट्वीट कर दिया। फासी महामारी पर ट्रंप के मलेरिया रोधी दवा के प्रभाव के दावे समेत कई बयानों के उलट अपनी राय जाहिर कर चुके हैं।

Edited By: Dhyanendra Singh