ह्यूस्टन, एजेंसियां। कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) के विकास और उत्पादन के लिए भारत और अमेरिका की निजी कंपनियां-संस्थाएं मिलकर काम कर रही हैं। इस दिशा में कम से कम तीन साझेदारी है। दुनियाभर में महामारी का प्रकोप इस कदर बढ़ता जा रहा है कि संक्रमित लोगों का वैश्विक आंकड़ा दो करोड़ के पार पहुंच गया है। अब तक इसकी वजह से दुनिया में 7.30 लाख से अधिक की मौत हो चुकी है।

अमेरिका में भारतीय राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने एक वेबिनार में यह बात कही। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के इस दौर में स्वास्थ्य देखभाल और चिकित्सा अनुसंधान के क्षेत्र में भारत-अमेरिका के वैज्ञानिकों व इंजीनियरों के लिए आपसी सहयोग की असीम संभावनाएं हैं। इसी उद्देश्य से इंडिया-यूएस साइंस एंड टेक्नोलॉजी इंडोमेंट फंड के तहत कोविड-19 वर्चुअल नेटव‌र्क्स विकसित किए गए हैं।

कोरोना वैक्सीन की राह आसान                                                                                     

उन्होंने कहा कि कोरोना काल में दोनों देश इन क्षेत्रों में बढि़या तालमेल से काम कर रहे हैं। कोरोना के शुरुआती दिनों से ही हमारे वैज्ञानिक और संस्थाएं अहम सूचनाएं साझा कर रही हैं। वर्चुअल नेटव‌र्क्स कायम करने से साझा अनुसंधान की राह आसान हो गई है।

अमेरिका में 50 लाख से ज्यादा मामले

भारत में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 22 लाख 68 हजार 676 और मृतकों की संख्या 45,257 हो गई है। बीते चौबीस घंटे के दौरान 53,601 नए मामले सामने आए और 871 लोगों की मौत हुई। कुल 15 लाख 83 हजार 490 मरीज पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं और सक्रिय मामले छह लाख 39 हजार 929 रह गए हैं। मरीजों के स्वस्थ होने की दर बढ़कर 69 फीसद हो गई है। वहीं, अमेरिका में 50 लाख से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से पीड़ित है और एक लाख 63 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप