वाशिंगटन, एएनआइ। सभी गैर-आपातकालीन सरकारी कर्मचारियों को तुरंत इराक छोड़ने का आदेश देने के बाद, संयुक्त राज्य अमेरिका ने कहा है कि हम आपसी हितों को आगे बढ़ाने के लिए इराकियों के साथ साझेदारी करने के लिए प्रतिबद्ध है।

ईरान के साथ बढ़ते तनाव के बीच अमेरिका ने इराक में मौजूद अमेरिकी नागरिकों की सुरक्षा को लकेर चिंता जताई है। अमेरिकी सरकार के प्रवक्ता ने कहा है कि 7 मई को इराक यात्रा के दौरान सचिव ने इराक सरकार के साथ सुरक्षा व्यवस्थाओं को लकेर अहम चर्चा की। उन्होंने कहा कि अमेरिकी नागरिकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हमने 'मिशन इराक' को रद करने का फैसला किया है।

उन्होंने बताया कि 'मिशन इराक' के तहत इराक में अमेरिकी नागरिकों को बहुुत कम आपातकालीन सेवाएं प्रदान करने की क्षमता थी। अमेरिकी सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि हमारी सबसे बड़ी प्रथमिक्ता अमेरिकी सरकार के कर्मियों और अमेरिकी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करना है।

अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ट्रम्प प्रशासन ने गैर-आपातकालीन कर्मचारियों को वापस लेने का फैसला मध्य पूर्व में तनाव के कारण लिया है। बताया जा रहा है कि एसा फैसला अमेरिकी बलों के खिलाफ संभावित खतरों की चेतावनी को देखते हुए लिया गया है।

इससे पहले अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव के बीच ट्रंप प्रशासन ने अपने गैर-आपातकालीन अधिकारियों को बगदाद छोड़ने के निर्देश दिए हैं। अमेरिकी विदेश विभाग ने बगदाद में अमेरिकी दूतावास और एर्बिल में वाणिज्‍य दूतावास के अधिकारियों को स्‍वदेश वापस लौटने को कहा है। विभाग की ओर से बताया गया है कि दोनों पोस्‍टों से सामान्‍य वीजा सेवाएं अस्‍थाई रूप से निलंबित रहेंगी। हालांकि अभी यह निश्चित नहीं है कि कुल कितने कर्मचारियों को वापस बुलाया जाएगा।

बता दें कि पिछले हफ्ते, अमेरिका ने एक पैट्रियट मिसाइल और एक युद्धपोत के साथ एक विमान वाहक और परमाणु-सक्षम बमवर्षक विमानों को फारस की खाड़ी में तैनात किया था। पैट्रियट प्रणाली विमान और मिसाइलों से सुरक्षा प्रदान करती है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप