वॉशिंगटन, एजेंसी। सिगरेट पीने से आपके फेफड़े को ही नहीं दिमाग को भी नुकसान पहुंच सकता है। इजरायल की हिब्रू यूनिवर्सिटी ऑफ यरुशलम के वैज्ञानिकों ने 2,000 से ज्यादा छात्रों पर अध्ययन के बाद यह निष्कर्ष दिया है। अध्ययन में अलग-अलग सामाजिक, राजनीतिक एवं आर्थिक परिवेश से आए छात्रों को शामिल किया गया था। वैज्ञानिकों ने बताया कि सिगरेट पीने वालों में अन्य की तुलना में अवसाद का खतरा दो से तीन गुना तक ज्यादा रहता है।

अलग-अलग पैमानों पर उनकी दिमागी सेहत भी सिगरेट नहीं पीने वालों की तुलना में कमजोर पाई गई। सामाजिक संबंधों को लेकर ऐसे लोगों की समझ भी धूमपान से प्रभावित होती है। प्रोफेसर हेगे लेवाइन ने कहा कि हालिया अध्ययन से धूमपान और तनाव के बीच गहरा संबंध सामने आया है। हालांकि अभी इस बात को लेकर स्पष्ट निष्कर्ष नहीं दिया गया है कि धूमपान तनाव के लिए कितना जिम्मेदार होता है। (प्रेट्र)

लंबी उम्र चाहिए तो हफ्ते में कम से कम तीन ग्रीन टी पिएं

हफ्ते में कम से कम तीन ग्रीन टी पीने से लंबा और स्वस्थ जीवन जीने का रास्ता खुल सकता है। अध्ययन में चीन के एक लाख से ज्यादा ऐसे लोगों को शामिल किया गया था, जिनमें कभी हार्ट अटैक, स्ट्रोक या कैंसर के लक्षण नहीं देखे गए थे। चाइनीज एकेडमी ऑफ मेडिकल साइंसेज के शिनयान वांग ने कहा, 'ग्रीन टी का नियमित सेवन दिल की बीमारियों एवं असमय मौत के अन्य कारणों से रक्षा करता है।'

वैज्ञानिकों ने औसतन 7.3 साल तक इस संबंध में अध्ययन किया। इसके लिए 14,081 प्रतिभागियों को दो वर्गो में बांटा गया था। एक वर्ग हफ्ते में तीन या इससे ज्यादा ग्रीन टी पीने वालों का था और दूसरा वर्ग इससे कम ग्रीन टी पीने वालों का। वैज्ञानिकों ने पाया कि ग्रीन टी का सेवन करने वालों में दिल की बीमारियों और स्ट्रोक का खतरा 20 फीसद तक कम रहता है। असमय मौत का खतरा 15 फीसद तक कम देखा गया। - प्रेट्र

Posted By: Nitin Arora

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस