न्यूयॉर्क, आइएएनएस। भारत के मून मिशन चंद्रयान 2 के लैंडर विक्रम की खोज अभी भी चल रही है। नासा ने विक्रम की तलाश के लिए अपना एक ऑर्बिटर चंद्रमा की ओर भेजा है।नासा का लूनर रिकॉनिस्सेंस ऑर्बिटर (एलआरओ) ने चांद के सतह के उस इलाके की बेहतर रोशनी में तस्वीरों ली है, जहां लैंडर विक्रम को खोजा जा रहा है। विशेषज्ञ इसके लिए कठोर खोज कर रहे हैं। नासा के लूनर रिकॉनिस्सेंस ऑर्बिटर (एलआरओ) के प्रोजेक्ट साइंटिस्ट नूह पेट्रो ने इस बात की जानकारी दी है।  पेट्रो ने बुधवार को आईएएनएस को बताया, 'सोमवार को प्रकाश की स्थिति इस इलाके में बहुत अधिक अनुकूल थी।

बता दें, पिछले महीने 17 सितंबर को नासा का लूनर रिकॉनिस्सेंस ऑर्बिटर(एलआरओ) चांद के इसी इलाके से गुजरा था और उसने वहां तस्वीरें भी ली थीं, लेकिन उस फ्लाईओवर के दौरान ली गई तस्वीरों में वैज्ञानिक विक्रम का पता नहीं लग पाया था। उस समय नासा ने कहा था कि  जब उनका ऑर्बिटर चांद के उस इलाके से गुजरा था तो वहां अंधेरा था और उस इलाके में परछाई भी काफी ज्यादा थी जिस कारण वह कहीं छिप गया होगा।

नोआ ने कहा, 'हमने सोमवार को लैंडिंग साइट पर उड़ान भरी और कैमरा टीम अभी भी तस्वीरों का मूल्यांकन कर रही है, इसलिए हमें अगले कुछ दिनों में और जानकारी मिलने वाली है।'पेट्रो ने कहा, 'हम उसकी सावधानीपूर्वक उसकी खोज करेंगे। हम कठिन खोज करेंगे, हम यथासंभव कठिन खोज कर रहे हैं। हम जल्द ही पता लेंगे, विक्रम मून लैंडर के साथ क्या हुआ।

Posted By: Shashank Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप