न्यूयॉर्क, रायटर। वीडियो एप टिकटॉक के अधिग्रहण को लेकर चीनी कंपनी बाइटडांस और अमेरिका की ऑरेकल के बीच तकरार बढ़ गई है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की सहमति से दोनों कंपनियों के बीच करार हुआ था। अमेरिका में टिकटॉक को प्रतिबंधों से बचाने के लिए बाइटडांस ने ऑरेकल ने टिकटॉक ग्लोबल नाम से नई कंपनी बनाई है, जिसके पास अमेरिका में इससे जुड़े सभी एप के अधिकार हैं। लेकिन सोमवार को बाइटडांस ने कहा कि नई कंपनी में उसकी हिस्सेदारी 80 फीसद होगी और टिकटॉक ग्लोबल उसकी सब्सिडियरी होगी।

ऑरेकल और वालमार्ट ने शनिवार को कहा था कि टिकटॉक ग्लोबल में अधिकतर हिस्सेदारी अमेरिका के लोगों के पास ही होगी। ये दोनों कंपनियां टिकटॉक ग्लोबल में क्रमश: 12.5 फीसद और 7.5 फीसद हिस्सेदारी लेने पर राजी भी हुई थीं। लेकिन अब बाइटडांस के दावे से सौदे पर संदेह के बादल मंडराने लगे हैं।

दरअसल, इस साल तीन नवंबर को अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव होने वाला है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप नहीं चाहते कि टिकटॉक पर पाबंदी लगाकर युवाओं को नाराज करें। इसलिए वह चाहते हैं कि किसी तरह यह एप अमेरिकी कंपनियों के पास आ जाए, ताकि उस पर पाबंदी नहीं लगानी पड़े।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस