द न्यूयॉर्क टाइम्स, वाशिंगटन। हाल में हुए हादसों को लेकर विवादों में घिरी बोइंग पर एक और सवाल खड़ा हो गया है। विमान बनाने वाली इस अमेरिकी कंपनी ने अपने 737 मैक्स विमान के सेफ्टी अलर्ट सिस्टम के काम नहीं करने की जानकारी एयरलाइनों को नहीं दी थी। कंपनी ने रविवार को खुद इस बात को उजागर किया।

वर्ष 2017 में जब बोइंग ने 737 मैक्स विमानों की आपूर्ति शुरू की थी तब उसने सेफ्टी अलर्ट सिस्टम को इसका प्रमुख फीचर बताया था। कॉकपिट में लगा यह फीचर किसी सेंसर के काम नहीं करने पर पायलट को चेताने के लिए डिजाइन किया गया था।

बोइंग के इंजीनियरों को कुछ महीने में ही मालूम हो गया था कि यह सेफ्टी अलर्ट तभी काम करता है जब एयरलाइंस अलग से इंटीकेटर खरीदती हो। लेकिन, केवल 20 फीसद उपभोक्ताओं ने ही इंडीकेटर खरीदा था इसलिए ज्यादातर मैक्स विमानों में सेफ्टी अलर्ट काम नहीं कर रहा था।

मार्च में दुर्घटनाग्रस्त हुए इथोपिया एयरलाइंस के विमान और पिछले साल अक्टूबर में इंडोनेशिया में दुघर्टनाग्रस्त हुए विमान में भी यह अलर्ट काम नहीं कर रहा था। इन दोनों हादसों में उड़ान भरने के कुछ मिनट बाद ही विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गए थे। इन हादसों में 346 लोगों की जान गई थी।

बोइंग का कहना है कि उसने अलर्ट सिस्टम के काम नहीं करने को लेकर आंतरिक समीक्षा की थी। उसमें पाया गया कि इससे विमान की सुरक्षा पर कोई खतरा नहीं होगा। इसी कारण विमानन कंपनियों और अमेरिका के फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (एफएए) को करीब एक साल तक इसकी सूचना नहीं दी गई।

इंडोनेशिया में हुए हादसे के बाद बोइंग ने एफएए को सेफ्टी अलर्ट के काम नहीं करने की जानकारी दी थी और भरोसा भी दिलाया था कि इससे विमान की सुरक्षा पर कोई असर नहीं पड़ता। एफएए के प्रवक्ता ने इसकी पुष्टि की और कहा, 'हम मानते हैं कि विमानन कंपनियों को तुरंत ही इसकी सूचना देनी चाहिए थी।'

अभी यह स्पष्ट नहीं है कि अलर्ट सिस्टम से हाल में हुए हादसों को रोका जा सकता था या नहीं। लेकिन, इसके कारण बोइंग की मुश्किल और बढ़ सकती है। मैक्स विमानों को सेवा से हटाने के चलते बोइंग पहले ही अरबों का नुकसान झेल रही है।

नदी में गिरे विमान के कुछ फीचर नहीं कर रहे थे काम
मियामी (एएफपी)। अमेरिका के फ्लोरिडा में गत शनिवार को रनवे से फिसलकर नदी में गिरे बोइंग 737 विमान का थ्रस्ट रिवर्सर टूटा हुआ था। इसी की मदद से लैंडिंग के वक्त विमान की गति धीमी हो पाती है। नेशनल ट्रांसपोर्टेशन सेफ्टी बोर्ड के ब्रूस लैंड्सबर्ग ने कहा, 'बीते कुछ समय से विमान की मरम्मत की जा रही थी। उसका बायां थ्रस्ट रिवर्सर काम नहीं कर रहा था। आगे की जांच में पता लगाया जाएगा कि विमान में किन-किन चीजों की मरम्मत की गई थी।'

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप