वाशिंगटन, रायटर्स। रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन और फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों का बयान सामने आया है। दोनों नेताओं यूक्रेन में रूसी हमले की निंदा की है। व्हाइट हाउस में गुरुवार को वार्ता के दौरान यूक्रेन में किए गए अपराध के लिए रूस को जवाबदेह ठहराने का संकल्प लिया। व्हाइट हाउस में दोनों नेताओं की हुई बैठक के बाद जारी एक बयान में यह जानकारी दी गई है।

रूसी राष्ट्रपति से बात करने को तैयार बाइडन

अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने इस दौरान कहा कि रूस अगर यूक्रेन पर आक्रमण को समाप्त करने के लिए इच्छुक है, तो वह रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से बात करेंगे। मालूम हो कि रूस द्वारा फरवरी में यूक्रेन पर हमला करने के बाद राष्ट्रपति बाइडन रूसी राष्ट्रपति पुतिन से बात नहीं कर रहे हैं। हालांकि फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों पुतिन के साथ वार्ता के रास्ते खुले रखे हैं।

नाटो सहयोगियों के परामर्श से करेंगे वार्ता

बाइडेन ने मैक्रों के साथ संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में कहा, 'राष्ट्रपति पुतिन अगर बात करने के लिए तैयार हैं तो मैं भी उनके साथ वार्ता करने के लिए तैयार हूं।' हालांकि उन्होंने आगे कहा कि सिर्फ वह अपने नाटो सहयोगियों के परामर्श से ऐसा करेंगे और वह ऐसा कुछ भी नहीं करेंगे, जिससे यूक्रेन के हितों को नुकसान पहुंचे। उन्होंने कहा, 'मैं रूस से वार्ता अपने दम पर नहीं करने जा रहा हूं।

रूस को जिम्मेदार ठहराने के लिए दोनों नेताओं ने लिया संकल्प

दोनों नेताओं के वार्ता के बाद एक संयुक्त बयान जारी किया गया, जिसमें राष्ट्रपति बाइडन और फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों ने रूस को यूक्रेन में व्यापक रूप से अत्याचारों और युद्ध अपराधों के लिए जिम्मेदार ठहराने का संकल्प लिया है। मैक्रों ने इस दौरान मुद्रास्फीति न्यूनीकरण अधिनियम (IRA) में सब्सिडी के बारे में फ्रांसीसी और यूरोपीय चिंताओं के मुद्दे को उठाया।

यह भी पढ़ें-  चीन में ओमिक्रॉन के वेरिएंट BA.5, BA.7 और XBB से बढ़े केस-मौतें, भारत के 98% लोगों में हर्ड इम्युनिटी ने बचाया

यह भी पढ़ें- Fact Check: इंदौर की सभा में राहुल ने जानबूझकर किया था माइक ऑफ, दु्ष्प्रचार की मंशा से वायरल हो रहा एडिटेड वीडियो क्लिप

Edited By: Sonu Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट