वाशिंगटन, प्रेट्र। एक अमेरिकी एनजीओ ने महाराष्ट्र में आई भीषण बाढ़ और वर्षा से प्रभावित लोगों के इलाज के लिए राज्य में चिकित्सा दल भेजने शुरू कर दिए हैं। एक अमेरिकी गैर सरकारी संगठन ने बयान जारी करके कहा कि महाराष्ट्र के सांगली, सतारा और रत्नागिरी जिलों के लिए तीन मेडिकल टीमें भेजी जा चुकी हैं। मुंबई स्थित अमेरिकाज इंडिया स्टाफ की टीमों ने स्थानीय स्वास्थ्य संगठनों के साथ साझेदारी में यह दल बनाए हैं। वह तत्काल चिकित्सा की सुविधाओं को मुहैया कराएंगे। साथ ही बाढ़ में दस दिनों से फंसे बीमार लोगों को कोविड-19 से संबंधित शिक्षा देंगे। इसी हफ्ते के अंत में दो अतिरिक्त टीमें कोल्हापुर और रायगढ़ भेजी जाएंगी जो बाढ़ पीडि़त परिवारों को आवश्यक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराएंगी।

अमेरिकेयर्स के इमरजेंसी रिस्पांस की वाइस प्रेसिडेंट केट डिस्चिनो ने कहा कि महाराष्ट्र की भीषण बाढ़ से हजारों लोगों की सेहत पर खतरा है। हमारे अनुमान से जल जनित बीमारियां अब बढ़ जाएंगीं और कोविड-19 का संक्रमण भी बढ़ सकता है, चूंकि पीडि़त परिवारों को अपने घरों से निकल कर बाहर आना पड़ रहा है। उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में आई बाढ़ और कई जगहों पर हुए भूस्खलनों से 200 से अधिक लोगों की मौत हो गई है। साथ ही हजारों लोग बेघर हो गए थे।

महाराष्ट्र में बारिश से मरने वालों की संख्‍या बढ़ी, 213 की मौत-आठ लापता

महाराष्ट्र में पिछले सप्ताह हुई बारिश के कारण हुई घटनाओं में मौत का आंकड़ा बढ़कर 213 तक पहुंच गया है। जिसमें से अकेले रायगढ़ जिले में लगभग 100 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि आठ लोग अभी भी लापता बताये जा रहे हैं। बता दें कि 20 जुलाई को हुई भारी बारिश की वजह से महाराष्ट्र के कई हिस्सों में विशेष रूप से तटीय कोंकण और पश्चिमी जिलों में भारी बाढ़ और भूस्खलन हुआ है। इससे भारी नुकसान और तबाही मची है।

Edited By: Shashank Pandey