सैन फ्रांसिस्को, एएफपी। सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म फेसबुक ने लाइव स्ट्रीमिंग की सुविधा पर नकेल कसने की बात कही है। न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में मस्जिदों पर हुए हमले की लाइव स्ट्रीमिंग से उठे विवाद के बाद से फेसबुक इस पर सख्ती की दिशा में कदम उठा रहा है।

फेसबुक में वाइस प्रेसीडेंट ऑफ इंटीग्रिटी गाय रोजेन ने कहा, 'जो भी नियमों का उल्लंघन करेगा, उसके लिए फेसबुक लाइव स्ट्रीमिंग की सुविधा प्रतिबंधित कर दी जाएगी। न्यूजीलैंड में हाल में हुए आतंकी हमले के बाद से हम इस संदर्भ में समीक्षा कर रहे हैं। हम इस कोशिश में हैं कि कैसे अपनी इस सर्विस को घृणा फैलाने वाला या नुकसान पहुंचाने वाला माध्यम बनने से बचाएं।'

नियमों के उल्लंघन के विभिन्न मामलों को लेकर फेसबुक लाइव पर 'वन स्ट्राइक' पॉलिसी लागू होगी। इसके तहत एक भी उल्लंघन पर यूजर के लिए लाइव स्ट्रीमिंग की सुविधा प्रतिबंधित कर दी जाएगी। किसी आतंकी संगठन के बयान से जुड़ा कोई लिंक शेयर करना भी नियमों के उल्लंघन के दायरे में रखा गया है। रोजेन ने कहा, 'आने वाले दिनों में हम इस प्रतिबंध का दायरा बढ़ाने की तैयारी कर रहे हैं। शुरुआत में ऐसे लोगों को फेसबुक पर विज्ञापन देने से प्रतिबंधित किया जाएगा।'

रोजेन ने एडिट किए हुए वीडियो पर भी चिंता जताई। उन्होंने कहा, 'हमले के अलग-अलग तरह से एडिट किए हुए वीडियो हमारे सामने बड़ी चुनौती हैं। कई बार लोग अनजाने में भी वीडियो का ऐसा एडिट किया हुआ वर्जन पोस्ट करते हैं कि हमारे सिस्टम उसे नहीं पकड़ पाते।' रोजेन ने इस दिशा में तकनीकी रूप से और उन्नत होने की जरूरत पर बल दिया। फेसबुक ने फोटो और वीडियो एनालिसिस में सुधार के लिए अमेरिका के तीन विश्वविद्यालयों से गठजोड़ किया है। इस दिशा में 75 लाख डॉलर (करीब 53 करोड़ रुपये) का निवेश किया जाएगा।

मालूम हो कि न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में 15 मार्च को एक स्थानीय नागरिक ने दो मस्जिदों को निशाना बनाते हुए अंधाधुंध फायरिंग की थी। इस दौरान उसने हमले की फेसबुक पर लाइव स्ट्रीमिंग की थी। इसके बाद बड़ी संख्या में लोगों ने उस वीडियो को शेयर किया था।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप