कंपाला, एजेंसी। अफ्रीका की सार्वजनिक स्वास्थ्य एजेंसी के प्रमुख ने विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO) की ओर से मंकीपॉक्स बीमारी के संबंध में व्‍याप्‍त भ्रांतियों को दूर करने को लेकर की जा रही पहल का स्‍वागत किया है। उन्‍होंने कहा कि वह विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से मंकीपॉक्स बीमारी के संबंध में अफ्रीकी क्षेत्रों के संदर्भों को हटाने के लिए वायरस के वैरिएंट्स की रिनेमिंग (पुन:नामंकरण) की पहल पर बेहद खुश हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की पहल के चलते पूर्व में कांगो बेसिन में फैलने वाली इस बीमारी की स्‍ट्रेन को अब क्लैड-1 जबकि पश्चिम अफ्रीका में पाई गई स्‍ट्रैन को अब क्लैड-2 कहा जा रहा है।

मंकीपॉक्स का नाम बदलने की पहल

मंकीपॉक्स रोग के प्रकार को पहले कांगो बेसिन के नाम से जाना जाता था लेकिन अब इसको क्लैड 1 के रूप में जाना जाता है। एक अन्य जिसे पहले पश्चिम अफ्रीका क्लैड के रूप में जाना जाता था उसे अब क्लैड 2 के रूप में पहचाना जाता है। यूएन की स्वास्थ्य एजेंसी ने पिछले सप्ताह ही इसके बदले हुए नाम की घोषणा की और कहा कि मंकीपॉक्स का नाम बदलने के लिए वह खुले मंच का आयोजन करेगी।

क्षेत्र के नाम से मिलेगा छुटकारा

अफ्रीका रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र के कार्यवाहक (Africa Centres for Disease Control and Prevention) के निदेशक अहमद ओगवेल ने गुरुवार को एक ब्रीफिंग में कहा, ' हमें बहुत खुशी है कि अब हम अफ्रीकी क्षेत्रों के नाम लिए बिना इन वैरिएंट को क्लैड 1 और क्लौड 2 बोल सकते हैं।' उन्होंने कहा कि हमें वाकई इसके नाम को बदलने से खुशी है।  

अफ्रीका में मंकीपॉक्स से सबसे अधिक मौत

दुनिया में मंकीपॉक्स का पहला मामला सामने आने के बाद इस साल अफ्रीका महाद्वीप में इससे सबसे अधिक मौत होने की सूचना मिली है। अफ्रीका में अब तक इसके कुल 3,232 मामले दर्ज किए गए हैं, जिसमें 105 लोगों की मौत हो गई है। एजेंसी ने एक सप्ताह पहले अपनी ब्रीफिंग की थी, जिसके बाद से अब तक इसके लगभग 285 मामले सामने आए हैं। ओगवेल ने बताया कि घाना और नाइजीरिया के पश्चिम अफ्रीकी देश में 90 प्रतिशत नए मामले रिपोर्ट किए गए हैं। लाइबेरिया, कांगो गणराज्य और दक्षिण अफ्रीका में इसके नए मामले सामने आए हैं।

ओगवेल ने मदद करने की अपील

अफ्रीका रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र के कार्यवाहक निदेशक अहमद ओगवेल ने अफ्रीका के 54 देशों को मंकीपॉक्स की जांच और इसके फैलाव को कम करने के लिए विश्व समुदाय से मदद करने की अपील की।

Edited By: Sonu Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट