-तृणमूल इस हत्याकांड को दबाने का प्रयास कर रही है : मन्नान

-पोस्टमार्ट रिपोर्ट पर दिवंगत शिक्षक की पत्‍‌नी ने जताए एतराज, सीबीआई जांच की मांग

संवाद सत्र, रायगंज : दिवंगत शिक्षक राजकुमार की मौत के विरोध में आंदोलन जारी रहेगा। यह कहना है राज्य के विरोधी दल के नेता अब्दुल मन्नान का। वें शुक्रवार को दिवंगत शिक्षक की पत्‍‌नी से मिलने के लिए रायगंज आए हुए थे। उल्लेखनीय है कि शिक्षक की मौत जितना रहस्यमय बनता जा रहा है, उतना ही यह राजनीतिक मुद्दा बनता जा रहा है। एक ओर प्रशासन राजकुमार राय की मौत को आत्महत्या बता रही है। वहीं पोस्टमार्टम के अनुसार चलायमान किसी भारी वस्तु के चपेट में आने से उसकी मौत का कारण बताया जा रहा है। बतादें कि पंचायत चुनाव के दिन बतौर पीठासीन पदाधिकारी के रूप में क‌र्त्तव्यरत राजकुमार राय अचानक लापता हो गया था और दो दिन बाद रायगंज में रेलवे ट्रेक पर उसका क्षत-विक्षत शव मिला था। मृतक की पत्‍‌नी अर्पित राय इसे हत्या मान रही है और पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर ऐतराज जताती हुई फिर से पोस्टमार्टम और फॉरेंसिक जांच कराने तथा मामले की तफ्तीश सीबीआई से कराने की मांग कर रही है। इसी क्रम में अधिवक्ता विकास रंजन भट्टाचार्य रायगंज आकर कानूनी लड़ाई को दूर तक ले जाने का आश्वासन भी दिए थे। इसे लेकर 21 जून को कोलकाता उच्च न्यायालय में अर्जी भी दी गई है, जिसमें सीबीआई जांच की मांग का उल्लेख है। आगामी 27 जून को इस मामले की सुनवाई होनी है। वहीं अब कांग्रेस ने भी मोर्चा खोल दिया है। आज अब्दुल मन्नान एवं रायगंज के विधायक तथा जिला कांग्रेस अध्यक्ष मोहित सेनगुप्त रायगंज के सुदर्शनपुर स्थित दिवगंज राजकुमार राय के आवास पर गए और मृतक की पत्‍‌नी से बातचीत कर उसके पैतृक आवास फांसदेवा भी गए।

अब्दुल मन्नान ने बताया कि तृणमूल कांग्रेस के इशारे पर इस हत्याकांड को दबाने की कोशिश की जा रही है। पार्टी मृतक के परिवार को न्याय दिलाने के लिए हर स्तर पर आंदोलन करेगी तथा कानूनी लड़ाई भी लड़ेगी। दूसरी ओर वाम मोर्चा के तरफ से भी इस मामले में लगातार आवाज उठाई जाएगी। सांसद मो. सलीम मृतक के परिजन से मिलकर हर संभव सहायता करने का आश्वासन दिया।

कैप्शन : दिवंगत शिक्षक की पत्‍‌नी से मिलते अब्दुल मन्नान

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप