संवाद सूत्र, रायगंज : कालियागंज विधानसभा उपचुनाव में भाजपा की शिकस्त के बाद पार्टी के अंदर की लड़ाई सड़क पर आ गई है। भाजपा के पूर्व उत्तर दिनाजपुर जिला अध्यक्ष व वर्तमान राज्य कमेटी सदस्य शकर चक्रवर्ती ने रायगंज के सासद व केंद्रीय महिला व बाल कल्याण राज्य मंत्री देवश्री चौधरी पर धमकाने और देख लेने का आरोप लगाया। उन्होंने मीडिया से मुखातिब होकर बताया कि बुधवार को केंद्रीय मंत्री और स्थानीय सासद ने टेलीफोन के माध्यम से धमकी भरे लहजे में कालियागंज के हार के लिए उन्हें दोषी ठहराया। उनपर मीडिया में पार्टी विरोधी बयान देने और पार्टी विरोधी गतिविधियों का आरोप लगाया। इसके सफाई में शकर चक्रवर्ती ने कहा कि उन्हें उक्त चुनाव में बिल्कुल अलग-थलग रखा गया। चुनावी कार्यक्रम में उनकी कोई भूमिका नहीं है। वस्तुत: दाड़िभीठ काड की सी बी आई जाच कराने और कोलकाता के लिए प्रात: कालीन ट्रेन चालू करने के लिए देवश्री चौधरी ने लोगों को आश्वासन दिया था लेकिन बाद में उनका मनोभाव इन विषयों को लेकर उदासीन रहा, जिससे उनके प्रति लोगों का भरोसा नहीं रहा। शायद यही हार का कारण हो सकता है। वे अपनी जिम्मेदारी की विफलता को मेरे सिरे मढ़ने की कोशिश करते है। लोगों को विकास चाहिए न कि कोरा भाषण। उन्होंने मंत्री की धमक से खुद को भयभीत होने का खुलासा किया। इस सन्दर्भ में देवश्री चौधरी की प्रतिक्रिया नहीं मिली।

लेकिन भाजपा के जिला सचिव विश्वजीत लाहिड़ी ने कहा कि पार्टी के अंदरुनी मामलों को आपसी चर्चा से निपटना चाहिए। शकर चक्रवर्ती पार्टी के एक कार्यकर्ता हैं, और भाजपा गुंडों का दल नहीं है, इसलिए उन्हें डरने की जरूरत नहीं है। सासद से क्या बात हुई,यह तो वे ही जाने लेकिन इसको लेकर मीडिया के सामने तूल देना उचित नहीं है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस