मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सूत्र, मेदिनीपुर : पश्चिम मेदिनीपुर जनपद के शालबनी स्थित भूमि विभाग में प्रशिक्षणरत विभागीय कर्मी समरेश हाजरा का शव संदिग्ध परिस्थितियों में मंगलवार की सुबह मेदिनीपुर मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के शिशु विभाग की छत पर पानी टंकी पाइप से लटका पाया जाने पर हड़कंप मच गया। जानकारी मिलते ही आनन-फानन में अस्पताल प्रबंधन ने कोतवाली थाने को सूचित किया। मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

कोतवाली थाना प्रभारी विश्वरंजन बनर्जी ने कहा कि पड़ोसी जनपद हुगली निवासी समरेश हाजरा इन दिनों शालबनी स्थित भूमि विभाग में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहा था। सोमवार की दोपहर उसे मेदिनीपुर मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रात करीब नौ बजे जब अस्पताल कर्मियों ने मरीजों की गिनती शुरू की तो समरेश अपने बेड पर नहीं मिला। काफी खोजबीन के बावजूद जब उसका कोई सुराग नहीं मिला तो इस बाबत कोतवाली थाने में शिकायत दर्ज कराई गई थी। हालांकि मंगलवार की सुबह अस्पताल परिसर स्थित शिशु विभाग के तीन मंजिला भवन की छत पर रखी पानी की टंकियों में लगे पाइप के सहारे गमछे से उसका शव लटकता देखा गया। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक के परिजनों को भी इस बाबत सूचित कर दिया गया है। प्रथम ²ष्टया यह मामला आत्महत्या का प्रतीत होता है, हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही इस मामले में सही ढंग से कुछ कहा जा सकेगा।

================================

अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप, भाजपाइयों ने सौंपा ज्ञापन

दूसरी ओर इसी मामले को लेकर भाजपा की युवा इकाई ने मंगलवार को सहायक मेडिकल सुपरीटेंडेंट सह उपाचार्य को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन सौंपने गए प्रतिनिधि दल में भाजपा जिलाध्यक्ष समित कुमार दास, जिला सचिव अरूप कुमार दास व युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष आशीर्वाद भौमिक समेत अन्य प्रमुख दलीय नेता उपस्थित रहे। समित कुमार दास ने ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि अस्पताल परिसर से एक मरीज का गायब होना और कुछ घंटों बाद उसका शव पाया जाना अपने आप में ¨चता का विषय है। इस मामले में अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही स्पष्ट रूप से दिखाई देती है, क्योंकि यदि छत पर जाने का दरवाजा बंद रहता तो इस तरह की घटना से बचा जा सकता था। इधर ज्ञापन स्वीकार करते हुए एएमएसवीपी डॉ. सुमनदेव चक्रवर्ती ने कहा कि मामले की जांच कोतवाली थाने की पुलिस कर रही है। उसकी रिपोर्ट मिलने के बाद ही इस दिशा में कुछ कहना संभव होगा, हालांकि घटना के बाद से अस्पताल परिसर में सतर्कता बढ़ा दी गई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप