मालदा, जेएनएन। बंगाल के मामदा जिले के इंग्लिश बाजार थाना क्षेत्र में भाजपा कार्यकर्ता की एसिड फेंककर हत्या किए जाने की सूचना मिली है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

घटना की जानकारी स्थानीय लोगों को बुधवार को सुबह उस समय हुई, जब भाजपा कार्यकर्ता का जला हुआ शव मिला। लोगों ने इसकी सूचना परिजनों व पुलिस को दी। प्रथम द्रष्टया मामला राजनीतिक विवाद ही लग रहा।हालांकि पुलिस ने अभी कुछ नहीं बताया। परिजनों ने हत्या का आरोप तृणमूल कांग्रेस पर लगाया है।

इस बीच, इंग्लिश बाजार के रंजन घोष ने टेलीफोन पर कहा कि तृणमूल कांग्रेस का इस घटना से संबद्ध नहीं है।

बंगाल में हिंसा को लेकर राज्यपाल ने चार प्रमुख दलों की बैठक बुलाई 

बंगाल में जारी हिंसा के को लेकर राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने गुरुवार को राज्य के चार प्रमुख दलों की बैठक बुलाई है। बैठक में राज्य में हो रही हिंसा की घटनाओं और कानून व्यवस्था पर चर्चा की जाएगी। इस बैठक के लिए सत्तारूढ़ तृणमूल, भाजपा, कांग्रेस और माकपा नेताओं को आमंत्रित किया गया है। शाम चार बजे बैठक शुरू होगी। दो दिन पहले ही राज्यपाल दिल्ली जाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात कर राज्य की स्थिति के बारे में रिपोर्ट दी थी।

राजभवन की ओर जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि तृणमूल महासचिव पार्थ चटर्जी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सोमेन मित्रा और माकपा राज्य सचिव सूर्यकांत मिश्रा बैठक में मौजूद रहेंगे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने इस मुद्दे पर कहा कि पत्र मिला है और वे बैठक में जाएंगे। बता दें कि बंगाल में सियासी हिंसा का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। हर दिन ¨हसा की खबरें आ रही हैं। तृणमूल और भाजपा के बीच लोकसभा चुनाव के परिणाम आने बाद से टकराव बढ़ गई जिसमें लगातार खून बह रहा है। दोनों पार्टियां एक-दूसरे पर गुंडागर्दी का आरोप लगा रही हैं।

भाजपा बार-बार आरोप लगाती रही है कि तृणमूल के कार्यकर्ता गुंडागर्दी कर रहे हैं और उनका कार्यकर्ताओं की हत्या कर रहे हैं। बुधवार को इसी के विरोध में भाजपा पुलिस मुख्यालाय (लालबाजार) अभियान किया। जहां पुलिस की तरफ से उनपर आंसू गैस के गोले दागे गए हैं। जल कमान का इस्तेमाल किया गया। बंगाल में आज भी एक भाजपा कार्यकर्ता की हत्या की खबर आई है। मालदा में बीजेपी कार्यकर्ता असित सिंह का शव मिला है।

असित सिंह पिछले दो दिन से लापता थे और आज उनका शव घर से थोड़ी दूर मिला। सोमवार की रात को भी उत्तर 24 परगना जिले में बम से हमला कर दो लोगों की हत्या कर दी गई। तृणमूल ने दोनों को अपना समर्थक बताया है। वहीं हावड़ा में दो भाजपा समर्थकों की हत्या कर दी गई थी। दूसरी ओर राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी द्वारा दिल्ली में दिए गए बयान को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी। वहीं मंगलवार को ममता ने कहा था कि बंगाल को गुजरात नहीं होने देंगे। ममता ने दावा किया कि लोकसभा चुनावों के बाद से 10 लोगों की मौत हुई है और इनमें से आठ तृणमूल कांग्रेस के लोग हैं, बाकि बीजेपी के समर्थक हैं। उन्होंने हालांकि 10 लोगों के मारे जाने के संबंध में कोई और जानकारी नहीं दी।

अब राज्यपाल ने जब पहल कर राज्य में शांति स्थापित करने को लेकर चार दलों की बैठक बुलाई है तो इस पर तृणमूल प्रमुख व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी क्या कहती हैं यह देखने वाली बात होगी।
 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sachin Mishra