-सांप्रदायिक सद्भावना दिवस को लेकर छात्रों के दो गुटों में हुआ बवाल

-शिक्षक देवदास मांझी हुए घायल

संवाद सूत्र, मालदा : तृणमूल छात्र परिषद की सद्भावना रैली को लेकर दो छात्र गुटों में विवाद हुआ। इसके कारण मालदा कॉलेज के शिक्षक भी घायल हुए। गुरूवार को छात्र इंग्लिश बाजार थाना के आईटीआई मोड़ पर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। छात्रों ने सड़क जाम भी किया। छात्र अपना आंदोलन वापस लेने को तैयार नहीं हो रहे थे। सड़क जाम के कारण माणिकचक राज्य सड़क पर जाम की समस्या हो रही थी। बाद में पुलिस ने छात्रों पर लाठियां बरसानी शुरू कर दी। इसे लेकर छात्रों में उत्तेजना का माहौल देखा गया। गौरतलब है कि बुधवार को तृणमूल की ओर से सांप्रदायिक सद्भावना दिवस को लेकर रैली निकाली गयी थी। इसे रैली में शामिल होने के लिए कॉलेज के छात्रों को जोर-जबरदस्ती किया गया। इसके कारण छात्रों को दो गुटों के बीच बहस शुरू हो गयी। गुरूवार को आपस में छात्र झगड़ा कर रहे थे। इसे देखते हुए कॉलेज के अध्यापक देवदास मांझी ने हस्तक्षेप किया। आरोप है कि तृणमूल छात्र परिषद के कुछ नेताओं ने ही शिक्षक पर हमला किया। इस घटना के विरोध में छात्रों ने सड़क जाम किया। बाद में पुलिस प्रशासन ने आंदोलन स्थान पर पहुंचकर छात्रों को आंदोलन वापस लेने की अपील की। लेकिन छात्र नहीं माने। इसपर पुलिस ने छात्रों पर लाठीचार्ज किया। छात्रों को पकड़-पकड़कर पीटा गया। इस मसले पर पुलिस प्रशासन ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया।

Posted By: Jagran