-माणिकचक ग्राम पंचायत के भाजपा को सर्वाधिक 10 सीटें मिली थी

-पुतुल को पैसे का प्रलोभन देकर खरीदा गया था, पैसे को लेकर तृणमूल के साथ हुआ विवाद : भाजपा

संवाद सूत्र, मालदा : भाजपा को छोड़कर तृणमूल में शामिल होने पर विजयी ग्राम पंचायत सदस्या पुतुल मंडल के घर पर हमला किया गया। एक गोली पुतुल के तीन साल के मासूम बेटे को भी लगी। साथ ही पुतुल के पति परिमल मंडल को भी पीटा गया। हमले का आरोप भाजपा पर लगाया गया है। गंभीर रूप से घायल बच्चा मृणाल मंडल को मालदा मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में भर्ती कराया गया है। चिकित्सकों ने बताया कि मासूम की हालत चिंताजनक है। यह घटना गुरूवार दोपहर के समय मालदा के माणिकचक ग्राम पंचायत के रामनगर गांव में घटित हुई।

तृणमूल नेता मो. एजारूल हुसैन ने बताया कि पुतुल मंडल ने रामनगर ग्राम पंचायत में भाजपा के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा था। वह विजयी हुई थी। बाद में वह तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गयी। इसके बाद से भाजपा के लोग लगातार पुतुल को धमकी दे रहे थे। आज दोपहर के समय अचानक भाजपा के कुछ लोग पुतुल के घर में घुसकर उसके पति को पीटने लगे। उसके पति पर गोली चलाई लेकिन यह गोली तीन साल के मासूम मृणाल मंडल सिर में गोली लग गयी। गोली उसके सिर के आर-पार हो गयी। इस घटना के बाद से भाजपा के सभी लोग फरार हो गए। गौरतलब है कि माणिकचक ग्राम पंचायत में कुल 18 सीटें है, जिसमें भाजपा को 10, 06 तृणमूल और कांग्रेस व निर्दलीय को एक-एक सीट मिली। गत 28 अगस्त को ग्राम पंचायत बोर्ड गठन के दिन तृणमून ने गठबंधन करके नौ सीट बना लिया। ट्राई होने पर प्रधान व उप प्रधान का पद भाजपा के झोली में ही गिरी। क्रोस वोटिंग को संदेह पुतुल मंडल पर गया। बाद में पुतुल ने भाजपा छोड़कर तृणमूल में शामिल हो गयी।

तृणमूल के जिला अध्यक्ष दुलाल सरकार ने बताया कि पुतुल ने भाजपा को छोड़ा, इसलिए उसके परिवार पर हमला किया गया। वहीं भाजपा नेता अभिजीत मिश्र का कहना है कि पुतुल ने तृणमूल में शामिल होने के लिए अधिक पैसा मांगा था। पैसा नहीं देने पर तृणमूल के साथ उसका विवाद हो गया। तृणमूल के लोगों ने उसके घर पर हमला किया।

कैप्शन : जिंदगी और मौत के बीच जूझता मासूम मृणाल

Posted By: Jagran