जासं, कोलकाता : इस वर्ष दुर्गा पूजा में महानगर के प्रतिष्ठित और लोकप्रिय पूजा पंडालों - अहिरीटोला, देशप्रिय पार्क, बालीगंज सास्कृतिक और टाला के पंडालों में मेटावर्स पर 3डी ट्विन्स के माध्यम से पहुंचा जा सकेगा। यह पहल मेटाफार्म और एक्सपी एंड डीलैंड ने की है। डिजिटल माध्यम से लोगों को कोलकाता की विश्व प्रसिद्ध दुर्गा पूजा के कुछ प्रमुख पंडालों का एक नया व अलग तरह का अनुभव प्रदान करने के उद्देश्य से शुक्रवार को मेटापूजो को यहां लांच किया गया, जो एक डिजिटल प्लेटफार्म है।

इस बारे में मेटाफार्म और एक्सपी एंड डीलैंड के संस्थापक सुकृत सिंह ने कहा, दुर्गापूजा को यूनेस्को द्वारा मान्यता मिलने के बाद, इस बार पूजा को लेकर सभी में उत्साह का माहौल है। यह पहल मा दुर्गा को वेब 3.0 पर एक उन्नत पता देती है, जहा दुनिया भर से श्रद्धालु कोलकाता के सबसे लोकप्रिय पंडालों के दर्शन व त्रि-आयामी मनोरंजन में प्रवेश करने और भाग लेने में सक्षम होंगे।

इस प्लेटफार्म को इस तरह से डिजाइन किया गया है जिसमें लोगों को लगेगा कि वह प्रत्यक्ष रुप से पंडाल में हैं। सिंह ने कहा कि हम इस साल चार पंडालों के साथ इसका संचालन कर रहे हैं, अगले साल 100 से अधिक के साथ और उसके बाद निकट भविष्य में हर एक पंडाल में लोगों के अनुभव और आनंद लेने के लिए एक मेटावर्स ट्विन होगा।

उन्होंने कहा कि मेटाफार्म और एक्सपी एंड डीलैंड की योजना पंडालों के 3डी मनोरंजन के आसपास केंद्रित है, जहा मेटावर्स प्लेटफार्म में उपयोगकर्ता एक साझा सामाजिक स्थान में प्रवेश कर सकते हैं जहा दुनिया भर के लोग एक साथ आ सकते हैं और पूजा घूम सकते हैं, बातचीत कर सकते हैं और यहा तक कि तस्वीरें भी ले सकते हैं। उपयोगकर्ता मिनटों में खुद का मेटा-यथार्थवादी अवतार बना सकते हैं।

यह प्लेटफार्म साधारण स्मार्ट फोन, टैबलेट और वियरेबल्स के जरिए सभी के लिए सुलभ है। इस अवसर पर संस्था के सह-संस्थापक सुवीर बजाज ने कहा- मेटापूजो कोलकाता के सबसे अधिक देखे जाने वाले पंडालों से मा दुर्गा की मूर्तियों के चार अद्वितीय एनएफटी पेश करेगा। लाचिंग के मौके पर संबंधित पूजा कमेटियों के पदाधिकारी भी उपस्थित थे।