कोलकाता, एएनआई। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी ने राज्य में चुनाव के बाद हो रही हिंसात्मक घटनाओं को देखते हुए गुरुवार को प्रमुख राजनीतिक दलों की एक बैठक बुलाई है। इस बैठक में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) से पार्थो चटर्जी, भाजपा से दिलीप घोष, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) से एसके मिश्रा और कांग्रेस से एसएन मित्रा भाग लेंगे। 

जानकारी के अनुसार पश्चिम बंगाल के राज्यपाल के एन त्रिपाठी ने राज्य में चुनाव के बाद हो रही हिंसा के मद्देनजर बृहस्पतिवार को प्रमुख राजनीतिक दलों की एक बैठक बुलायी है। त्रिपाठी ने बंगाल के सभी प्रमुख राजनीतिक दलों को एक पत्र भेजकर उनसे राजभवन में शाम चार बजे सर्वदलीय बैठक में भाग लेने का अनुरोध किया है। सर्वदलीय बैठक में राज्य में हो रही हिंसा की घटनाओं और लॉ एंड ऑर्डर पर चर्चा की जाएगी।

इस पहल का स्वागत करते हुए पश्चिम बंगाल भाजपा इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि राज्य सरकार को यह पहल करनी चाहिए थी। उन्होंने कहा हम फैसले का स्वागत करते हैं। हमें त्रिपाठी का पत्र मिला। हम बैठक में शामिल होंगे। इससे पहले पश्चिम बंगाल में भाजपा के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को लाल बाजार स्थित पुलिस मुख्यालय की ओर मार्च निकाला। विरोध प्रदर्शन कर रहे हजारों भाजपा कार्यकतार्ओं को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले और पानी की बौछारें छोड़ीं।

भाजपा का आरोप है कि राज्य में पूर्ण रूप से कानून एवं व्यवस्था बिगड़ गयी है। भाजपा का मार्च सेंट्रल कोलकाता में वेलिंगटन स्क्वायर से शुरू हुआ। कुछ महिला भाजपा कार्यकतार्ओं ने पुलिस बैरिकेड को तोड़कर लाल बाजार के प्रमुख गेट के सामने 'जय श्री राम' के नारे लगाए। भाजपा के हजारों कार्यकतार्ओं ने विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया और लाल बाजार की ओर मार्च किया। भाजपा नेता कैलाश विजयवगीर्य, सांसद एस एस अहलूवालिया और पार्टी के अन्य नेताओं ने लाल बाजार की ओर जाने वाली सेंट्रल एवेन्यू तथा बी बी गांगुली सड़क पर बैठकर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले और पानी की बौछारें भी छोड़ीं।

कुछ प्रदर्शनकारियों ने एक बैरिकेड को पलट दिया जिसके बाद पुलिस ने उनको तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज भी किया। पुलिस ने बैरिकेड दोबारा खड़े कर दिए। कई महिला भाजपा कार्यकर्ता पानी की बौछारों के दबाव के कारण सड़कों पर गिर गयीं। भाजपा नेता राजू बनजीर् आंसू गैस का एक गोला लगने से घायल हो गए। पूरा सेंट्रल एवेन्यू भाजपा समर्थकों के 'जय श्री राम' के नारे के साथ गूंज उठा। 

जानकारी हो कि पश्चिम बंगाल में सियासी हिंसा का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। आए दिन प. बंगाल से हिंसा की खबरें आती हैं। भाजपा और टीएमसी के बीच की राजनीतिक खींचातनी इनके कार्यकर्ताओं के बीच खूनी रंग में बदलती जा रही है। दोनों पार्टियां एक-दूसरे पर आरोप लगाती हैं।

मालदा में भाजपा कार्यकर्ता असित सिंह का कल शव मिला है। असित सिंह पिछले दो दिन से लापता थे और आज उनका शव घर से थोड़ी दूर मिला। एक दिन भी नॉर्थ 24 परगना में एक भाजपा कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई थी। बंगाल में जब से  भाजपा का जनाधार बढ़ा है, हर दिन वहां से हिंसा और खूनखराबा भी ख़बरें आ रही हैं।

वहीं, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दावा कर रही हैं कि  भाजपा ‘बंगाल को गुजरात में बदलने की योजना बना रही है और वह ऐसा बिलकुल नहीं होने देंगी। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप