राज्य ब्यूरो, कोलकाताः बंगाल में लोकल ट्रेनें चलाने को लेकर बुधवार को बंगाल सरकार और रेलवे के अधिकारियों के बीच बैठक हुई। बैठक में राज्य सरकार ने 210 लोकल ट्रेनें चलाने का प्रस्ताव दिया है। इनमें सुबह व शाम ज्यादा ट्रेनें चलाने पर सहमति बनी हैं। हालांकि इसकी अंतिम घोषणा गुरुवार को बैठक के बाद होगी। बता दें कि राज्य के मुख्य सचिव ने सोमवार को पूर्व और दक्षिण पूर्व रेलवे के अधिकारियों के साथ बैठक की थी। उसके बाद लोकल ट्रेनें चलाने की अनुमति दे दी गई थी। 

वरिष्ठ अधिकारी और आला पुलिस अधिकारी भी मौजूद थे

इसी को ध्यान में रखते हुए बुधवार को राज्य सरकार के अधिकारियों ने पूर्व और दक्षिण पूर्व रेलवे के अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में बंगाल के गृह सचिव एचके द्विवेदी के साथ-साथ पूर्व और दक्षिण पूर्व रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी और आला पुलिस अधिकारी भी मौजूद थे। 

ट्रेन अगर शुरू होंगी तो 50 फीसद ट्रेनों का ही संचालन

रेलवे सूत्रों ने बताया कि लोकल ट्रेन अगर शुरू होंगी भी तो केवल 50 फीसद ट्रेनों का संचालन ही संभव हो सकेगा। वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक गुरुवार को फिर बैठक होगी। उस बैठक में अंतिम रूपरेखा तय की जाएगी। 

105 ट्रेनें सुबह तथा 105 ट्रेनें शाम को चलाने प्रस्ताव

अधिकारियों का कहना है कि राज्य सरकार ने हावड़ा व सियालदह डिवीजन से प्रतिदिन 210 लोकल ट्रेनें चलाने का प्रस्ताव दिया है। 105 ट्रेनें सुबह तथा 105 ट्रेनें शाम को चलाने प्रस्ताव दिया गया है। सुबह और शाम को ज्यादा ट्रेनें चलाई जाएंगी। दोपहर को अपेक्षाकृत कम ट्रेनें चलायी जाएंगी। 

प्रत्येक ट्रेन में 50 फीसद यात्रियों को ले जाया जाएगा

प्रत्येक ट्रेन में 50 फीसद यात्रियों को ले जाया जाएगा। इस बारे में 5 नवंबर को फिर बैठक होगी, जिसके बाद यात्रियों की सुरक्षा, ट्रेनों की संख्या व यात्रियों की संख्या को लेकर प्लान की रूपरेखा तय होगी।

Edited By: Vijay Kumar