आसनसोल, अश्विनी रघुवंशी। West Bengal Assembly Election 2021: पश्चिम बंगाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गजब का आकर्षण है, भाजपा नेता, कार्यकर्ता से आम लोगों तक। चुनावी रैली के लिए वे पश्चिम बंगाल आ रहे हैं तो स्वागत, मंच प्रबंधन या विदाई करने वालों की सूची में अपना नाम दर्ज कराने के लिए भाजपा नेताओं में होड़ है। हर नेता चाहते हैं कि नरेंद्र मोदी को वे करीब से देखे और पीएम उन्हें। पीएम के कार्यक्रम के लिए आयोजकों की सूची में दर्ज वही भाजपा नेता नरेंद्र मोदी के करीब जा पाएंगे जो कोरोना से खुद को बचाएंगे। शनिवार को चुनावी रैली के लिए प्रधानमंत्री आसनसोल आए। हवाई तल पर मोदी के स्वागत, चुनावी सभा के मंच पर चढ़ने और उतरने वक्त उनका ख्याल रखने, फिर विदाई देने वालों की सूची बनाई गई। एसपीजी ने सबकी तत्काल कोरोना जांच कराई। जिन लोगों में कोरोना पाया गया, उन्हें जय रामजी कह दिया गया। 23 तारीख को पीएम की मालदा, मुर्शिदाबाद, बीरभूम और साउथ कोलकाता में चुनावी सभा प्रस्तावित है। मुर्शिदाबाद में चुनावी सभा के लिए भाजपा मुख्यालय से समन्वय कर रहे धनबाद नगर निगम के पूर्व मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल बोले कि जो लोग पीएम के नजदीक जाएंगे, उनकी कोरोना जांच होगी। एसपीजी यह कराएगा ही।

पश्चिम बंगाल के चुनाव से इतर प्रधानमंत्री देशवासियों को कोरोना से बचाने के जतन में लगे हुए हैं। पीएम हरेक नागरिक को कोरोना से बचाव के लिए लगातार अभिभावक की तरह समझा रहे हैं, आगाह कर रहे हैं। कोरोना की दूसरी लहर के बीच पीएम को चुनावी सभा के लिए आसनसोल जाना पड़ा तो एसपीजी के कान खड़े हो गए। नरेंद्र मोदी के करीबी जाने की प्रमुख भाजपा नेताओं में उतनी ही जिद थी। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में किसी भी तरीके से जुड़े सारे लोगों की सूची तैयार की गई। सुरक्षा गार्ड से लेकर सारे भाजपा नेताओं की। एसपीजी के अनुरोध पर आसनसोल की चुनावी सभा से पहले दो दिन में 490 लोगों की जांच की गई। 54 लोग कोरोना पाजिटिव पाए गए। सबको प्रधानमंत्री के कार्यक्रम से अलग कर दिया गया।

मोदी ने मास्क पहना था, बाकी को भी पहनाया गया

आसनसोल की चुनावी सभा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अंडाल एयरपोर्ट पर उतरे। भाजपा नेता कृष्णा प्रसाद, मिठू घाटी, अशोक सोंथालिया, मनोज ओझा समेत ग्यारह भाजपा नेता उनके स्वागत के लिए हाजिर थे। पीएम से सबका परिचय हुआ। वहां से वायु सेना के हेलिकाप्टर से निघा एरोड्राम के पास बनाए गए अस्थाई हेलिपैड पर उतरे। वहां से मंच के पीछे बनाए गए कक्ष में गए जहां चुनावी हिंसा के शिकार लोगों को लेकर बैरकपुर के भाजपा सांसद अर्जुन सिंह आए थे। सबकी कोरोना जांच कराई गई थी। सभा को संबोधित करने के बाद प्रधानमंत्री मंच से उतरे तो कान में कमल फूल की आकृति का बना झुमका पहन भाजपा नेत्री सुधा देवी, शंकर चौधरी, रामानंद पाठक एवं गौतम चक्रवर्ती तैनात थे। प्रधानमंत्री ने सुधा देवी का नाम और संगठन में दायित्व की जानकारी ली। चुनाव में काम में लगे रहने की नसीहत दी। बाकी लोगों से परिचय लेते हुए आगे बढ़ गए। विदाई के पहले एमपी के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्र, भाजपा उम्मीदवार अरिजीत राय, जितेंद्र तिवारी, कृष्णेंदू मुखर्जी, दीप्तांशु चौधरी, लखन घुरुई, तापस राय, डाक्टर विजन मुखर्जी, डाक्टर अजय पोद्दार और अग्निमित्रा पाल के साथ पीएम का दोबारा परिचय हुआ। उस वक्त भी सबके चेहरे पर मास्क थे। सभी उम्मीदवारों की भी कोरोना जांच हुई थी।

जानें, किसने क्या कहा

एसपीजी के अनुरोध पर प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के प्रबंधन में शामिल सारे लोगों की तत्काल कोरोना जांच कराई थी। कोरोना जांच की रिपोर्ट एसपीजी को दे दी गई थी। जो लोग कोरोना से पीड़ित पाए गए थे, उन्हें प्रधानमंत्री के कार्यक्रम से अलग रखा गया था।

अनुराग श्रीवास्तव, जिलाधिकारी, पश्चिम बर्द्धमान

देश कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है और मोदीजी इसकी अगुवायी कर रहे हैं। चुनावी सभा में जिन लोगों को उनके करीबी जाना था, जो लोग मंच पर थे, जो उन्हें विदा करने गए थे, सबकी कोरोना जांच हुई थी। कुछ लोग कोरोना से पीड़ित थे।

सुधा देवी, जिला सचिव, भाजपा, आसनसोल जिला।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप