राज्य ब्यूरो, कोलकाता। अक्सर ही अपने बयानों व ट्वीट को लेकर विवादों में रहने वाली तृणमूल सांसद महुआ मोइत्रा ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर बनीं बीबीसी की  प्रतिबंधित डाक्यूमेंट्री का लिंक ट्विटर पर शेयर किया। उन्होंने पहले रविवार को अपने ट्विटर हैंडल पर इसका लिंक शेयर किया था, लेकिन वह लिंक काम नहीं कर रहा था।

इसलिए उन्होंने मंगलवार को फिर से लिंक शेयर किया और लिखा कि हमें क्या देखना है हम सोचेंगे, सरकार नहीं। बता दें कि बीबीसी की डाक्यूमेंट्री को लेकर काफी विवाद हो रहा है। केंद्र सरकार ने बीबीसी की डाक्यूमेंट्री को बैन कर दिया है और इसे पूरी तरह से भारत विरोधी करार दिया है।

केंद्र ने डाक्यूमेंट्री के खिलाफ जताई नाराजगी 

गौरतलब हो कि बीबीसी की डाक्यूमेंट्री ‘इंडिया: द मोदी क्वेश्चन’ पिछले मंगलवार को जारी की हुई थी। यह डाक्यूमेंट्री 2002 की गुजरात हिंसा के बारे में है। डाक्यूमेंट्री में गुजरात हिंसा के दौरान तत्कालीन मुख्यमंत्री मोदी की आलोचना की गई है।

इसे केंद्र ने प्रधानमंत्री व भारत के खिलाफ दुष्प्रचार करार दिया है। डाक्यूमेंट्री के लिंक को ट्विटर और यूट्यूब से भी हटाने का आदेश दिया गया था। उस निर्देश के बाद महुआ माइत्रा ने बीबीसी की डाक्यूमेंट्री का लिंक को सबसे पहले 22 जनवरी को अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया था।

महुआ माइत्रा ने शेयर किया डाक्यूमेंट्री का लिंक

तृणमूल सांसद ने लिखा था कि दुर्भाग्य से दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रतिनिधि का चुनाव सेंसरशिप को मानने के लिए नहीं किया गया। लिंक यहां दिया गया है। आप जब चाहें देख सकते हैं। लेकिन इसे खुलने में थोड़ा समय लग रहा है लेकिन यह लिंक नहीं खुल रहा था।

इसके बाद मंगलवार को फिर से महुआ ने लिंक शेयर करते हुए लिखा है कि अच्छा, बुरा, कुरुप, हम निर्णय करेंगे कि क्या देखना है हम सोचेंगे। सरकार हमें नहीं बताएं हमें क्या करना है। इससे पहले तृणमूल के ही राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ’ब्रायन ने डाक्यूमेंट्री के बारे में ट्वीट किया था, जिसे बाद में ट्विटर ने हटा दिया था।

यह भी पढ़ें: PM Modi पर BBC की विवादित डॉक्युमेंट्री को लेकर भाजपा को मिला कांग्रेस नेता का साथ, देश के लिए बताया खतरा

Edited By: Piyush Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट