जागरण संवाददाता, कोलकाता। कलकत्ता हाईकोर्ट के आदेश पर पूरे राज्य में पंचायत चुनाव की प्रक्रिया पर रोकी लगी है, लेकिन हिंसा है कि थमने का नाम नहीं ले रही। उत्तर दिनाजपुर जिले के चोपड़ा स्थित लक्ष्मीपुर में शनिवार सुबह से कांग्रेस व तृणमूल के लोगों ने एक दूसरे पर जमकर गोलियां चलाईं व बम फेंके हैं।

घटना में एक कांग्रेस कर्मी की मौत गोली लगने से हो गई है। उसका नाम बैशाखू कर्मकार है। जबकि दो तृणमूल कर्मियों को गोली लगी है। हालांकि पुलिस का दावा है कि बैशाखू की मौत धक्का-मुक्की के दौरान हार्ट अटैक से हुई है। हिंसक हालात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि हिंसा प्रभावित इलाके में भारी संख्या में पहुंची पुलिस पर भी लोगों ने ईंटों से हमला कर दिया जिसके बाद हालात को संभालने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े।

स्थानीय तृणमूल नेता जाकिर अबेदिन का आरोप है कि शनिवार सुबह से ही कांग्रेस समर्थित अपराधियों ने बम व बंदूकों से तृणमूल कर्मियों पर हमला बोल दिया। हालांकि कांग्रेस नेता सइदुल इस्लाम ने इन आरोपों को खारिज करते हुए दावा किया कि तृणमूल समर्थित अपराधियों ने गोली व बमों से कांग्रेस कर्मियों पर हमला बोला है। यहां तक कांग्रेस के पार्टी ऑफिस को भी तोड़ा गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप