कोलकाता, जागरण संवाददाता। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता समेत दक्षिण बंगाल के विस्तृत इलाके में काल बैसाखी की वजह से लगातार हो रही बारिश आंधी और वज्रपात ने एक युवक और एक युवती की जान ले ली। सोमवार सुबह वज्रपात की वजह से दक्षिण 24 परगना के बारुइपुर में एक छात्रा की मौत हो गई है जबकि झाड़खली की मातला नदी में नौका डूबने से एक युवक की मौत हुई है।

जिला पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दक्षिण 24 परगना के बारुइपुर कुराली ग्राम की रहने वाली मल्लिका नस्कर (16 साल) सोमवार सुबह बज्रपात की चपेट में आ गई। बताया गया है कि सुबह 4:00 बजे के करीब वह घर के पास मौजूद जमीन पर रखे धान उठाने के लिए गई थी। उसी समय अचानक बज्रपात हुआ जिसकी चपेट में आने की वजह से वह बुरी तरह से झुलस गई थी। बारुइपुर अस्पताल ले जाने पर चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। उसके पिता जयपद नस्कर ने बताया कि सुबह 4:00 बजे के करीब जब तेज बारिश के साथ आंधी की शुरुआत हुई तो बेटी धान उठाने के लिए घर के पास की जमीन में गई थी। उसके साथ उसकी बड़ी मां भी थीं। अचानक तेज आवाज के साथ वज्रपात हुआ जिसकी चपेट में मल्लिका आ गई।

कोलकाता समेत दक्षिण बंगाल के विस्तृत इलाके में काल बैसाखी की वजह से लगातार हो रही बारिश आंधी और वज्रपात ने एक युवक और एक युवती की जान ले ली। दूसरी घटना झाड़खली की है। बताया गया है कि तेज तूफान की वजह से सुंदरबन की मातला नदी में नौका डूब जाने की वजह से अभिषेक पाण्डे नाम के युवक की मौत हो गई है। वह पूर्व मेदिनीपुर के नारायणगढ़ का रहने वाला था। अपने 7 अन्य दोस्तों के साथ वह रविवार को सुंदरबन इलाके में घूमने के लिए आया था। रात के समय ये लोग नौका पर ही सो गए थे। इस बीच 3:30 बजे के करीब जब आंधी पानी की शुरुआत हुई तब ये लोग झाड़खली जेट्टी की ओर आ रहे थे लेकिन रास्ते में ही नौका पलट गई और सारे लोग नदी में डूबने लगे। नजर पड़ने पर तुरंत स्थानीय लोग नदी में कूदे और बाकी लोगों को तो बचा लिया जबकि अभिषेक को नहीं बचाया जा सका। अस्पताल ले जाने पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस