जागरण संवाददाता, वीरभूम : सियासी संघर्ष में एक बार फिर नानूर इलाका रणक्षेत्र बन गया। तृणमूल और भाजपा समर्थकों के बीच हुई फायरिंग में गोली लगने से एक महिला की मौत हो गई। मृतका भाजपा कार्यकर्ता की मां बताई गई है। तनाव के मद्देनजर गांव में भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है।

सूत्रों के अनुसार जिले के नानूर थाना अंतर्गत हाटसेरांदी गांव में सोमवार सुबह सियासी रंजिश को लेकर तृणमूल कांग्रेस और भाजपा समर्थक आमने सामने आ गए। देखते ही देखते दोनों पक्षों की ओर से लाठी डंडे चलने के साथ ही फायरिंग भी शुरू हो गई। एक गोली पास में ही खड़ी एक महिला को जा लगी। ज्यादा खून बह जाने से मौके पर ही उसकी मौत हो गई। मृतका की शिनाख्त शंकरी बागदी के रूप में की गई। उक्त गांव जिला तृणमूल अध्यक्ष अनुब्रत मंडल का बताया गया है। मृतका का बेटा उदय बागदी भाजपा का सक्रिय कार्यकर्ता बताया गया है। आरोप है कि तृणमूल समर्थकों की ओर से महिला को निशाना बनाकर गोली चलाई गई थी। हालांकि परिवार ने किसी भी राजनीतिक पार्टी से संबंध होने से इन्कार कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव उठाने का प्रयास किया तो ग्रामीणों ने घेराव कर नारेबाजी शुरू कर दी। आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं होने तक शव देने से इन्कार कर दिया। हालात बिगड़ता देख अतिरिक्त पुलिस बल को बुला लिया गया। अधिकारियों ने ग्रामीणों को समझा कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। तनाव के मद्देनजर गांव में भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है। हालांकि इस मामले में अभी तक तृणमूल व भाजपा की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। पुलिस ने घटना की जांच शुरू कर दी है। उधर, वीरभूम के पुलिस अधीक्षक के अनुसार राजनीतिक नहीं बल्कि पारिवारिक विवाद के चलते घटना हुई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप