कोलकाता, [राज्य ब्यूरो]। कभी पार्टी प्रमुख व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बाद तृणमूल कांग्रेस में दो नंबर की हैसियत रखने वाले वरिष्ठ नेता व राज्यसभा सांसद मुकुल रॉय से पार्टी अब धीरे-धीरे पिंड छुड़ा रही है। पिछले कुछ महीनों से पूरी तरह अलग-थलग चल रहे रॉय को पार्टी ने अब परिवहन, पर्यटन और संस्कृति पर संसद की स्थाई समिति के अध्यक्ष पद से हटा दिया है। उनकी जगह अध्यक्ष पद पर तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता डेरेक ओ ब्रायन को नामित किया है।

सूत्रों के अनुसार पार्टी ने इस बाबत राज्यसभा सचिवालय को पत्र भेजकर सूचित कर दिया है कि मुकुल की जगह स्थाई समिति का अध्यक्ष अब डेरेक ओ ब्रायन होंगे।

हालांकि पार्टी सूत्रों का कहना है कि हर साल अगस्त में स्थाई समितियों का पुनर्गठन होता है इसी के तहत यह बदलाव किया गया है, लेकिन दूसरी तरफ यह अटकलें है कि भाजपा से बढ़ती नजदीकियों के चलते मुकुल के पर कतरे गए हैं। 

सूत्र का कहना है कि मंगलवार को जब राज्यसभा में तृणमूल कांग्रेस के नवनिर्वाचित पांच सदस्यों ने शपथ ली उस समय रॉय संसद में मौजूद थे, लेकिन शपथ के बाद तृणमूल के सभी सांसदों ने जब पार्टी कार्यालय में मुलाकात की उस दौरान मुकुल मौजूद नहीं थे। 

बता दें कि बहुचर्चित सारधा चिटफंड घोटाले में फरवरी 2015 में सीबीआइ द्वारा पूछताछ के बाद से ही मुकुल पार्टी में अलग-थलग चल रहे हैं। उनके भाजपा में शामिल होने को लेकर कई बार अटकलें लगाई जा चुकी है। हालांकि मुकुल इससे साफ इन्कार करते रहे हैं। बाद में फिर तृणमूल में उनकी वापसी हो गई थी, लेकिन पिछले कई माह से फिर उन पर ममता बनर्जी खफा हैं।

मुकुल को सबंग से उम्मीदवार बनाए जाने की अटकलें 

दूसरी तरफ ऐसी खबरें भी है कि मुकुल को पश्चिम मेदिनीपुर के सबंग विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने के लिए कहा जा सकता है और मंत्रिमंडल में उन्हें जगह दी जा सकती है। तृणमूल विधायक मानस भुईयां के राज्यसभा सांसद मनोनीत होने के बाद यह सीट खाली हुई है। हालांकि इस बाबत जब रॉय से संपर्क किया गया तो उन्होंने स्पष्ट कहा कि उपचुनाव लड़ने या राज्य कैबिनेट में शामिल होने का कोई सवाल हीं नहीं उठता है। वहीं, स्थाई समिति का अध्यक्ष से हटाए जाने के सवाल पर उन्होंने यह पार्टी का विशेषाधिकार है कि अध्यक्ष कौन होगा।

 

यह भी पढ़ेंः ममता ने नोटबंदी को कहा बड़ा घोटाला

 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप