राज्य ब्यूरो, कोलकाता। तृणमूल कांग्रेस बंगाल विधानसभा के आगामी बजट सत्र में राज्यपाल जगदीप धनखड़ के खिलाफ निंदा प्रस्ताव ला सकती है। पार्टी सूत्रों से यह जानकारी मिली है। एक फरवरी से शुरू होने जा रहे संसद के बजट सत्र में भी तृणमूल राज्यपाल को हटाने की मांग पर प्रस्ताव लाने की तैयारी कर रही है।

गौरतलब है कि राजभवन व राज्य सचिवालय में टकराहट लगातार बढ़ती जा रही है। राज्यपाल ने गत मंगलवार को विधानसभा में डा. बीआर अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद वहां मीडिया से बातचीत में राज्य सरकार की कड़ी आलोचना करते हुए कहा था कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपने संवैधानिक दायित्वों का पालन नहीं कर रही हैं। बंगाल में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है बल्कि सत्तारूढ़ दल का कानून चल रहा है। बंगाल के लोग मताधिकार के अधिकार से वंचित हो रहे हैं जबकि लोकतंत्र में मताधिकार सबसे महत्वपूर्ण है।

इसके बाद गणतंत्र दिवस समारोह में राज्यपाल व मुख्यमंत्री की मुलाकात हुई थी लेकिन दोनों को एक-दूसरे से बातचीत करते नहीं देखा गया था। आरोप यह भी लगा था कि समारोह के दौरान मुख्यमंत्री ने राज्यपाल की अगवानी नहीं की थी। विधानसभा में तृणमूल के मुख्य सचेतक तापस राय ने कहा कि इससे पहले बंगाल में किसी भी राज्यपाल को राजनीतिक व्यक्ति की तरह आचरण करते नहीं देखा गया। वे जब से राज्यपाल बनकर आए हैं, तब से बेवजह मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते आ रहे हैं। राज्यपाल के क्रियाकलापों को देखते हुए उनके खिलाफ जो कदम उठाने की जरूरत होगी, वह पार्टी की तरफ से उठाया जाएगा। गौरतलब है कि तृणमूल कांग्रेस राज्यपाल पर सीधे तौर पर भाजपा का एजेंट होने का आरोप लगाती आई है।

Edited By: Babita Kashyap