राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय द्वारा भाजपा से निलंबित नेता नुपुर शर्मा पर की गईं टिप्पणियों का स्वागत किया और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर शर्मा को संरक्षण देने का आरोप लगाया। पार्टी ने साथ ही दिल्ली पुलिस से आग्रह किया कि वह पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ दिए गए विवादास्पद बयान के मामले में भाजपा की पूर्व प्रवक्ता शर्मा को गिरफ्तार करे।

सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणियों का जिक्र करते हुए तृणमूल कांग्रेस ने ट्वीट किया, उच्चतम न्यायालय ने देश को आग में झोंकने के लिए अकेले नुपुर शर्मा को जिम्मेदार ठहराया है, जिसके चलते उदयपुर में बर्बर तरीके से हुई हत्या का मामला सामने आया। किसी ने आपको (शर्मा) छूने का साहस नहीं किया जोकि आपकी ताकत को बताता है। गृह मंत्री शाह और दिल्ली पुलिस पर निशाना साधते हुए पार्टी ने आरोप लगाया कि शर्मा को संरक्षण प्रदान करना शर्मनाक है।

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने नुपुर शर्मा की पैगंबर मोहम्मद के बारे में विवादित टिप्पणी को लेकर उन्हें शुक्रवार को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि उनकी (नुपुर की) अनियंत्रित जुबान ने पूरे देश को आग में झोंक दिया। न्यायालय ने यह भी कहा कि देश में जो कुछ हो रहा है उसके लिए शर्मा अकेले जिम्मेदार हैं।

शीर्ष न्यायालय ने शर्मा की विवादित टिप्पणी को लेकर विभिन्न राज्यों में उनके खिलाफ दर्ज प्राथमिकियों को एक साथ जोड़ने संबंधी उनकी अर्जी स्वीकार करने से इन्कार करते हुए कहा कि उन्होंने (शर्मा ने) पैगंबर मोहम्मद के बारे में टिप्पणी या तो सस्ता प्रचार पाने के लिए या किसी राजनीतिक एजेंडे के तहत या किसी घृणित गतिविधि के तहत की। कोर्ट ने नुपुर शर्मा पर कार्रवाई नहीं किए जाने को लेकर पुलिस पर भी सवाल उठाए। न्यायमूर्ति सूर्यकांत और जेबी पार्डीवाला ने कहा कि अगर इस कोर्ट की अंतरात्मा संतुष्ट नहीं है तो कानून अपना काम करेगा।

Edited By: Babita Kashyap