राज्य ब्यूरो, कोलकाता : भाजपा शासित त्रिपुरा के दौरे पर गए तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी के काफिले पर एक दिन पहले हुए कथित हमले के विरोध में मंगलवार को पार्टी कार्यकर्ताओं ने पूरे बंगाल में प्रदर्शन किया। तृणमूल कांग्रेस एवं उसकी युवा इकाई के कार्यकर्ताओं ने राजधानी कोलकाता से लेकर राज्य के विभिन्न जिलों में इस घटना के विरोध में सड़क पर उतर कर पैदल मार्च निकाला और भाजपा पर हमले का आरोप लगाते हुए उसके खिलाफ प्रदर्शन किया।

कोलकाता, हावड़ा, हुगली खड़गपुर, आसनसोल, सिलीगुड़ी व अन्य शहरों में तृणमूल कार्यकर्ता ने भाजपा कार्यालयों के सामने भी विरोध जताया और जमकर नारेबाजी की। वहीं, इस विरोध प्रदर्शन के दौरान जलपाईगुड़ी में भाजपा कार्यालय में घुसकर तोड़फोड़ का भी आरोप तृणमूल कार्यकर्ताओं पर लगा है। भाजपा ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए राज्य सरकार व तृणमूल कांग्रेस की आलोचना की है।

प्रदेश भाजपा के मुख्य प्रवक्ता शमिक भट्टाचार्य ने कहा कि राज्य में लागू कोरोना प्रतिबंधों के बावजूद सत्तारूढ़ दल के कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन के नाम पर गुंडागर्दी कर रहे हैं। उन्होंने जलपाईगुड़ी में पार्टी कार्यालय पर हुए हमले को सोची समझी साजिश करार दिया। उल्लेखनीय है कि सोमवार को त्रिपुरा के दौरे पर गए तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे सांसद अभिषेक बनर्जी के काफिले को कई बार रोकने की कोशिश की गई।

तृणमूल का आरोप है कि अगरतला हवाई अड्डे से जब त्रिपुरेश्वरी मंदिर की ओर उनका काफिला जा रहा था तो भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनके वाहन पर हमला किया। अभिषेक ने ट्विटर पर अपने काफिले पर हुए हमले का एक वीडियो भी साझा किया था, जिसमें भाजपा के झंडे लिए कुछ लोग गाड़ी पर लाठी से हमला करते नजर आ रहे हैं। हालांकि इसके बाद बनर्जी ने उदयपुर के त्रिपुरेश्वरी मंदिर में पूजा-अर्चना की। वहीं, भाजपा ने इस हमले के पीछे हाथ होने से इन्कार किया था।

Edited By: Vijay Kumar