जागरण संवाददाता, कोलकाता : एनआरएस मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में फार्मासिस्ट की पिटाई मामले में आरोपित एक पोस्ट ग्रेजुएट ट्रेनी (पीजीटी) चिकित्सक को निलंबित कर दिया गया है। बताया गया कि जाच समिति की रिपोर्ट के आधार पर आरोपित चिकित्सक को दो माह के लिए निलंबित करने का निर्णय लिया गया है। इसी बीच उक्त मामले में न्याय को फार्मासिस्टों की संगठन ने कानूनी रूख अख्तियार करने की बात कही है, ताकि आगे इस तरह की घटनाएं न हो। दरअसल, गत तीन सितंबर को एनआरएस मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के आउटडोर के फार्मेसी में ड्यूटी पर तैनात एक फार्मासिस्ट से सर्जरी विभाग के एक पोस्ट ग्रेजुएट प्रशिक्षु चिकित्सक ने बिना प्रिस्क्रिप्शन दवा देने को कहा था, लेकिन ऑन-ड्यूटी फार्मासिस्ट ने ऐसा करने से मना कर दिया था। वहीं कथित तौर पर प्रशिक्षु पोस्ट ग्रेजुएट चिकित्सक पर अभद्र भाषा के इस्तेमाल के साथ मारपीट का भी आरोप था। घटना को लेकर फार्मासिस्टों की संगठन द्वारा अस्पताल के अधिकारियों से शिकायत की गई थी। साथ ही उक्त मामले की लिखित शिकायत थाने में भी दर्ज कराई गई थी। इसके इतर मामले में आरोपित चिकित्सक की गिरफ्तारी की मांग को लेकर फार्मासिस्टों ने अस्पताल परिसर में काम ठप कर विरोध प्रदर्शन भी किया था। जिसके बाद घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए और स्वास्थ्य भवन की ओर से की गई जांच में दोषी पाए जाने पर आरोपित प्रशिक्षु चिकित्सक को दो माह के लिए निलंबित करने का निर्णय लिया गया है। सूत्रों की मानें तो जांच रिपोर्ट पिछले सप्ताह ही अस्पताल के अधिकारियों को भेज दी गई थी। वहीं खबर है कि मामले में आरोपित चिकित्सक को शनिवार से ही दो माह के लिए निलंबित कर दिया गया है। इस मामले में मीडिया कर्मियों से मुखातिब हुए एनआरएस मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक सह उपप्रमुख सौरव चट्टोपाध्याय ने कहा कि स्वास्थ्य भवन की ओर से की गई जांच में दोषी पाए जाने की सूरत में प्रशिक्षु चिकित्सक को दो माह के लिए निलंबित किया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप