राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल में पार्टी के संगठन को मजबूत करने के लिए अगले महीने भाजपा के कई केंद्रीय मंत्री व शीर्ष नेता राज्य के दौरे पर आ रहे हैं। इनमें स्मृति ईरानी, निर्मला सीतारमण, एस जयशंकर, किरन रिजिजू, नरेंद्र सिंह तोमर, अर्जुन मुंडा और धर्मेंद्र प्रधान शामिल हैं। भाजपा के ये शीर्ष नेता अपने दौरे के दौरान केंद्रीय परियोजना को बढ़ावा देने के साथ जनसंपर्क भी बढ़ाएंगे। इन नेताओं का कार्यक्रम राज्य में 15 जुलाई तक पूरा आने का लक्ष्य रखा गया है। पहले चरण में स्मृति ईरानी, धर्मेंद्र प्रधान, किरन रिजिजू राज्य का दौरा करेंगे।

बता दें कि अंतर्कलह व नेताओं के पलायन से बंगाल भाजपा संकट के दौर से गुजर रही है। सोमवार को भाजपा के केंद्रीय नेता व राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने प्रदेश की हारी हुई और कमजोर लोकसभा सीटों के पर्यवेक्षकों और संयोजकों के साथ नेशनल लाइब्रेरी में बैठक की। गत लोकसभा चुनाव में भाजपा ने राज्य की 18 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल की थी। इस दिन पार्टी के विभागों और प्रकोष्ठों के साथ दूसरे दौर की बैठक हुई। राज्य नेतृत्व का निर्देश है कि सार्वजनिक रूप से कोई विवादास्पद टिप्पणी नहीं की जा सकती है।

नेताओं को पार्टी लाइन के अनुरूप बोलना चाहिए। वहीं दूसरी ओर बैठक में विधानसभा चुनाव में आशानुरूप परिणाम नहीं मिलने के बाद इस बार लोकसभा चुनाव से पहले बंगाल में बूथों की जिम्मेदारी केंद्रीय मंत्रियों को दी गई है। दरअसल विधानसभा चुनाव के बाद जिस तरह से बंगाल भाजपा में गुटबाजी सामने आई है, केंद्रीय नेतृत्व अब राज्य नेतृत्व पर संगठनात्मक जिम्मेदारियों को नहीं छोड़ सकता है। बैठक में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार और विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी मौजूद नहीं थे। हालांकि, प्रदेश भाजपा के मुख्य प्रवक्ता शमिक भट्टाचार्य ने कहा कि कोई विवाद नहीं है। यह बैठक रूटीन के तहत हुई है। नेता पार्टी के कार्यक्रमों में व्यस्त थे। 

Edited By: Priti Jha