-मतदाताओं को धमकी देने व पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाने का आरोप

-पार्थ ने कहा काश्मीर से अधिक केंद्रीय बल को भेजा गया बंगाल में

जागरण संवाददाता, कोलकाता : पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव के लिए राज्य में पहुंचे केंद्रीय बलों पर मतदाताओं को धमकी देने का आरोप लगाया गया है और इसकी शिकायत चुनाव आयोग से करने की बात कही है। रविवार को राज्य सरकार में मंत्री व कोलकाता नगर निगम के मेयर फिरहाद हकीम ने केंद्रीय बलों पर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्रीय सुरक्षा बल के जवान मतदाताओं को धमकी दे रहे हैं और पक्षपातपूर्ण रवैया अपना रहा हैं। नजरूल मंच में तृणमूल कांग्रेस की दक्षिण कोलकाता लोकसभा चुनाव कमेटी की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम से इतर फिरहाद ने कहा कि रूट मार्च के दौरान केंद्रीय बलों की ओर से मतदाताओं को भयभीत किया जा रहा है जिसकी शिकायत चुनाव आयोग से की जाएगी। उन्होंने कहा कि पार्टी महासचिव पार्थ चटर्जी व राष्ट्रीय अध्यक्ष सुब्रत बख्शी चुनाव आयोग से इसकी शिकायत करेंगे। फिरहाद ने 135 कंपनी केंद्रीय बलों की तैनाती को लेकर भी सवाल खड़ा किया।

वहीं, पार्थ चटर्जी ने भी केंद्रीय बलों के आचरण को लेकर सवाल खड़ा किया और कहा कि मुझे नहीं मालूम कि काश्मीर में इतने जवान होंगे कि नहीं जितने चुनाव से पहले पश्चिम बंगाल में पहुंच गए हैं।

उल्लेखनीय है कि नजरुल मंच में आयोजित कार्यक्रम में सुब्रत बख्शी, सुब्रत मुखर्जी, जावेद खान सहित तृणमूल के कई अन्य वरिष्ठ नेता उपस्थित हुए। दक्षिण कोलकाता सीट से तृणमूल ने नगर निगम की चेयर पर्सन माला रॉय को उम्मीदवार बनाया है। बता दें कि 2014 में सुब्रत बख्शी ने ही यहा से जीत दर्ज की थी लेकिन इस बार चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। बख्शी ने कहा कि एक सासद के रूप में काम किया है और लोगों से जन संपर्क भी बना कर रखा है।

Posted By: Jagran