जागरण संवाददाता, कोलकाता । पश्चिम बंगाल के बिजली मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने कहा कि सरकार निकट भविष्य में 1000 शैक्षणिक संस्थानों को सौर विद्युतीकरण कार्यक्रम के दायरे में लाएगी।  उन्होंने बताया कि 1200 शैक्षिक संस्थानों की छतों पर पहले ही सौर पैनल लगाए जा चुके हैं।

ये पैनल पांच किलोवाट से 20 किलोवाट बिजली पैदा कर रहे हैं। ऐसे सौर पैनल एक साल के भीतर 1000 से अधिक शैक्षिक संस्थानों में लगाए जाएंगे।

चट्टोपाध्याय ने कहा कि उनका विभाग पुरुलिया जिले के अयोध्या हिल्स के विभिन्न हिस्सों में जल विद्युत क्षमता का उपयोग कर 1000 मेगावाट से 900 मेगावाट की दो पंप वाली स्टोरेज परियोजनाओं की स्थापना भी कर रहा है।

उन्होंने कहा कि जब 2011 में ममता बनर्जी की सरकार सत्ता में आई थी तब केवल 85 लाख परिवार गैर-पारंपरिक बिजली का उपयोग करते थे जबकि अब यह आंकड़ा 1.85 करोड़ पहुंच गया है। 

Posted By: Preeti jha