कोलकाता, जागरण संवाददाता। Kolkata Book Fair: भारती डाक विभाग के अनुसार 44वें अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले में चलता-फिरता पोस्टबॉक्स आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। डाक विभाग के अधिकारी के अनुसार कार्डबोर्ड से बने पोस्टबॉक्स के मॉडल को धारण किए पोस्टबॉक्स मैन की वजह से पुस्तक मेले में लगे डाक विभाग के स्टाल पर लोगों की भीड़ बढ़ रही है।

किताबों के मेले में घूमता पोस्टबॉक्स

भारती डाक विभाग के अनुसार 44वें अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले में चलता-फिरता पोस्टबॉक्स आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। बंगाल सर्किल के पोस्टमास्टर जनरल गौतम ने बताया भारतीय डाक के स्टाल के बाहर चलता-फिरता मॉडल लोगों को खूब पसंद आ रहा है। खासकर बच्चे इसके प्रति खूब आकर्षित हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि अगली पीढ़ी को डाक विभाग के प्रति आकर्षित करने और उन्हें यह बताने के लिए की आखिर पोस्टबॉक्स कैसे दूर-दराज के लोगों लोगों को जोड़ता हैं, इस तरह के कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। उन्होंने बताया कि पुस्तक मेले में लोग पुस्तक खरीद इस चलते-फिरते पोस्टबॉक्स के माध्यम से जिस पते पर चाहें, वहां डाक के माध्यम से पहुंचा सकते हैं।

डाक विभाग का स्टाल संभाल रहे एक अधिकारी ने बताया कि चलते-फिरते पोस्टबॉक्स को इतना पसंद किया जा रहा है कि इधर से गुजरनेवाले लोग इसके साथ सेल्फी लेना नहीं भूल रहे। साथ ही इसके पास उपलब्ध स्टांप व चांदी के पेंडेंट भी खरीद रहे हैं।

मौके पर उपस्थित डाक विभाग के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि हमारा मुख्य उद्देश्य लोगों को बताना है कि कैसे आज के मेल और व्हाट्सएप के जमाने में भी पुराने पोस्टल डाक का कोई विकल्प नहीं और क्यों स्पीड पोस्ट और डाक बचत योजनाएं आज भी लोगों के भरोसे पर खरे उतर सकतीं हैं। गौरतलब है कि 44वें अंतरराष्ट्रीय कोलकाता पुस्तक मेले के दौरान डाक विभाग की ओर से एक विशेष डाक कवर और धातु की डाक मुहर जारी की गई। 

West Bengal : सैनिटरी पैड के साथ गुप्तांग में सोना छिपाकर बैंकाक से आई महिला गिरफ्तार

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस