कोलकाता, जागरण संवाददाता। पश्चिम बंगाल में अब कहीं भी पूजा पंडाल बनाने के लिए सड़क के इस्तेमाल की मनाही होगी। इतना ही नहीं यदि पूजा को लेकर कहीं भी सड़क जाम की स्थिति पैदा होती है तो इसे भी बर्दास्त नहीं किया जाएगा। इस बाबत राज्य सचिवालय नवान्न की ओर से राज्य के सभी पुलिस थाने को सख्त निर्देश भेजे गए हैं। इस संदर्भ में सभी पूजा कमेटियों को भी जानकारी साझा करने की बात कही गई है। कहा है कि आम लोगों को कोई परेशानी न हो इसे लेकर ही उक्त कदम उठाया है।

प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार बीते साल दुर्गा पूजा के दौरान कई जगह से सड़क जाम की शिकायत सचिवालय में जमा पड़ी थी। इसी शिकायत के आधार पर अब कड़ा कदम उठाया जा रहा है। निर्देश में स्पष्ट कहा गया है कि यदि कहीं पूजा पंडाल के कारण सड़क जाम की स्थिति या लोगों के परेशानी होनी की संभावना भी दिखती है तो ऐसी स्थिति में उक्त जगह पंडाल निर्माण की अनुमति नहीं होगी। यह निर्देश कोलकाता के साथ राज्य के सभी जिलों के लिए भी लागू होगा। आदेश की कापी सभी पुलिस थाने के साथ पूजा कमेटियों को भी भेज दी गई है।

उल्लेखनीय है कि पश्चिम बंगाल में मशहूर दुर्गापूजा को अब दो महीने ही बचे हैं। महानगर समेत राज्य में कई जगह छोटे-बड़े पूजा पंडाल का निर्माण होता है। महानगर में कई जगह स्थान अभाव के कारण पूजा पंडालों के लिए सड़क का भी इस्तेमाल किया जाता है। चार दिन जब लोग विभिन्न पंडालों में दर्शन को उमड़ते हैं तो सड़क जाम परेशानी का सबब बनता है। सचिवालय की ओर से कहा गया है कि उक्त निर्देश लोगों की परेशानियों को कम करने के लिए ही जारी किया गया है। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप