राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल के शिक्षक नियुक्ति भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार तृणमूल कांग्रेस विधायक व प्राथमिक शिक्षा परिषद के पूर्व अध्यक्ष मानिक भट्टाचार्य के करीबी तापस मंडल से मंगलवार को एक बार फिर पूछताछ हुई है। केंद्रीय प्रवर्तन निदेशालय (ED) के समन के बाद वह सुबह 10:30 बजे के करीब सीजीओ कंप

लेक्स स्थित केंद्रीय एजेंसी के दफ्तर पहुंचे जहां अधिकारियों ने उनसे पूछताछ की है।

नियुक्ति के एवज में नहीं मांगे रुपये: तापस मंडल 

इसके पहले दफ्तर में प्रवेश करते समय जब मीडिया कर्मियों ने उनसे पूछा कि क्या आपने इस मामले में गिरफ्तार तृणमूल युवा नेता कुंतल घोष से नियुक्ति के लिए वसूली गई राशि में से हिस्सा मांगा तो इसके जवाब में उन्होंने कहा कि यह सच है कि मैंने कुंतल से रुपये मांगे लेकिन नियुक्ति के एवज में नहीं। उन्होंने कहा कि कुंतल ने कालेजों में पढ़ने वाले 300 से अधिक छात्र छात्राओं से शिक्षक नियुक्ति के नाम पर 19 करोड़ रुपये की वसूली की थी। मैंने वही रुपये छात्रों को लौटाने को कहा था।

ईडी ने कुंतल घोष को किया गिरफ्तार 

दरअसल गत शुक्रवार को न्यूटाउन के दो फ्लैट में तलाशी अभियान चलाने के बाद ईडी ने कुंतल घोष को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तारी के बाद घोष ने दावा किया कि तापस ने उससे 50 लाख रुपये घूस मांगे थे जो नहीं देने पर उसे फंसा कर गिरफ्तार करवाया गया है।

यह भी पढ़ें: Animal Trafficking: पूर्णिया में बंगाल के 3 पशु तस्‍कर गिरफ्तार, 124 मवेशियों सहित 2 ट्रक को किया जब्‍त

Edited By: Piyush Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट