जागरण संवाददाता, हावड़ा : रामराजातला स्थित एक अंग्रेजी माध्यम के स्कूल की प्रिंसिपल पर दसवीं की छात्राओं से दु‌र्व्यवहार करने, परीक्षा में बैठने से वंचित रखने की धमकी देने और कथित तौर पर पीटने का मामला सामने आया है। प्रिंसिपल के इस रवैये के खिलाफ शुक्रवार को छात्राओं और उनके अभिभावकों ने स्कूल के समक्ष इकट्ठा होकर घेराव किया और स्कूल की प्रिंसिपल पर कार्रवाई करने की मांग की। सूचना पाकर मौके पर पहुंची चटर्जीहाट थाने की पुलिस ने नाराज अभिभावकों को समझाकर शांत कराया और मामले को देखने का आश्वासन दिया। इसके बाद विरोध खत्म हुआ।

पीड़ित दसवीं की छात्रा अंगिरा चटर्जी ने बताया कि बाल दिवस के मौके पर गुरुवार को स्कूल में एक कार्यक्रम हुआ था। इस दौरान सभी को आइसक्रीम बांटा गया। हालांकि इनमें एक छात्रा का आइसक्रीम कम होने को लेकर स्कूल की प्रिंसिपल ने कथित तौर पर बच्चों से दु‌र्व्यवहार किया। इस पूरे वाकये से प्रिंसिपल नाराज हो गईं। प्रिंसिपल के गो कहने पर बच्चियां स्कूल के गेट के बाहर जाकर खड़ी हो गईं। अपराह्न तीन बजे गेट के बाहर खड़ी छात्राओं को देख अबतक यहां रूकने का कारण पूछा। इस पर बच्चियों ने कहा कि उन्हें लगा कि उन्होंने पनिशमेंट के तहत गेट के बाहर जाने को कहा है। इस पर प्रिंसिपल और नाराज हो गईं और कथित तौर पर इस दौरान तीन छात्राओं की चोटी पकड़कर खींचने का आरोप है। इतना ही नहीं उन्हें उन्हें स्कूल परीक्षा में बैठने से वंचित करने की धमकी देने समेत और कई आरोप हैं।

इसे लेकर शुक्रवार को पीड़ित छात्राएं और उनके अभिभावक स्कूल पहुंचे और वहां पथावरोध कर विरोध करने लगी। इधर इस मामले में स्कूल की ओर से किसी प्रकार की कोई टिप्पणी नहीं की गई है। पुलिस को मामले में अभिभावकों ने एक लिखित चिट्ठी दी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस