कोलकाता, राज्य ब्यूरो। राज्य सरकार ने कोरोना संक्रमितों की मदद के लिए अभिनव पहल की है। अब कोलकाता के थानों में फोन करने से ही डॉक्टर उपलब्ध हो जाएंगे। थानों में फोन करने पर वहां से सरकारी डॉक्टरों का नंबर दिया जाएगा और वहां फोन करने पर कोरोना संक्रमितों को चिकित्सकीय सलाह उपलब्ध होगी।जरूरत पड़ने पर डॉक्टर उपलब्ध मरीजों के घर भी जाएंगे।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश पर कोलकाता नगर निगम व महानगर की पुलिस ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए जो विशेष परिसेवा सेवा शुरू की है, यह उसी का एक हिस्सा है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन व वेस्ट बंगाल डॉक्टर्स फोरम के सदस्य इस बाबत आगे आए हैं। दोनों संगठनों के डॉक्टर चौबीसों घंटे महानगर में चिकित्सा सुविधाएं प्रदान करेंगे। वेस्ट बंगगल डॉक्टर्स फोरम राज्य सरकार के अनुरोध पर कोरोना प्रोटोकोल टीम के तौर पर काम कर रही है।

आइएमए के राज्य सचिव डॉक्टर शांतनु सेन ने बताया कि कोविड-19 मैनेजमेंट प्रोटोकॉल टीम से जुड़े डॉक्टर परिजनों के इलाज में स्वयंसेवक के तौर पर काम कर रहे हैं। राज्य सरकार ने कोरोना संक्रमितों की मदद के लिए अभिनव पहल की है। अब कोलकाता के थानों में फोन करने से ही डॉक्टर उपलब्ध हो जाएंगे। थानों में फोन करने पर वहां से सरकारी डॉक्टरों का नंबर दिया जाएगा और वहां फोन करने पर कोरोना संक्रमितों को चिकित्सकीय सलाह उपलब्ध होगी।जरूरत पड़ने पर डॉक्टर उपलब्ध मरीजों के घर भी जाएंगे।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस ने डाक्टरों को भी अपनी चपेट में लिया है। महानगर में कोरोना से संक्रमित होकर अब तक 20 डॉक्टरों की मौत हो चुकी है। संकट की इस घड़ी में भी डॉक्टरों ने राज्य सरकार को कोरोना से मुकाबले में पूरी तरह से मदद करने का आश्वासन दिया है। सरकारी सूत्रों के मुताबिक आइएमए के डॉक्टरों के आगे आने से जिलों में चिकित्सकों की कमी की समस्या कुछ हद तक दूर हुई है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस