राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल पुलिस द्वारा कथित तौर पर पगड़ी खींचे जाने को लेकर सुर्खियों में आए सिख सुरक्षा गार्ड बलविंदर सिंह की पत्नी व पुत्र ने बुधवार को राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात कर न्याय की गुहार लगाई। बलविंदर की पत्नी व पुत्र से मुलाकात के बाद राज्यपाल ने कहा कि उनका न्याय के लिए गुहार लगाते देखना काफी दुखद था और यह उनके लिए काफी कठिन समय था।

राजभवन पहुंचे और इंसाफ की गुहार लगाई

उन्होंने मुख्यमंत्री को टैग करते हुए ट्वीट किया कि मुख्यमंत्री इस अन्याय को रोकें और बलविंदर सिंह के साथ न्याय करें। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीएमसी) के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा के साथ बलविंदर सिंह की पत्नी करमजीत कौर व पुत्र हर्षवीर सिंह राज्यपाल से मिलने के लिए राजभवन पहुंचे और इंसाफ की गुहार लगाई।

बुरे बर्ताव पर व्यापक रोष का संज्ञान ले सरकार

परिवार ने बलविंदर की जल्द रिहाई की मांग की। राज्यपाल ने ट्वीट कर राज्य प्रशासन से इस कार्रवाई को उचित ठहराने के बजाय 'सुधार' करने को कहा। उन्होंने कहा कि बंगाल पुलिस को न्यायोचित ठहराने के बजाय सुधार करना चाहिए। सरकार को बलविंदर सिंह के साथ बुरे बर्ताव पर व्यापक रोष का संज्ञान लेना चाहिए।

गृह विभाग और पुलिस को सुधार करना चाहिए

उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी को संतुलित रुख अपनाना चाहिए और इस तरह के आरोपों को हटाकर मानवाधिकार और कानून के शासन का संकेत देना चाहिए। राज्यपाल ने कहा कि गृह विभाग और पुलिस को गलत चीजों को सही नहीं ठहराना चाहिए और उन्हें सुधार करना चाहिए।

9 एमएम पिस्टल के साथ गिरफ्तार किया था

गौरतलब है कि पिछले हफ्ते गुरुवार को भाजपा के राज्य सचिवालय अभियान के दौरान एक 9 एमएम पिस्टल के साथ हावड़ा पुलिस ने बलविंदर सिंह को गिरफ्तार किया था।

भाजपा नेता के बतौर सुरक्षा गार्ड काम करते थे

हालांकि उनके पिस्टल की वैधता जनवरी, 2021 तक की है। बलविंदर फिलहाल हावड़ा पुलिस की हिरासत में हैं। बलविंदर भारतीय सेना के रिटायर्ड फौजी हैं और इस समय भाजपा नेता के सुरक्षा गार्ड के रूप में काम करते थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021