कोलकाता, राज्य ब्यूरो। अयोध्या में ऐतिहासिक राम मंदिर के लिए बुधवार को होने जा रहे भूमि पूजन के शुभ मुहूर्त पर दोपहर 12:30 बजे बंगाल में भी विश्व हिंदू परिषद, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, हिंदू जागरण मंच, भाजपा एवं हिंदू समर्थित संगठनों द्वारा शंख ध्वनि की गई  एवं घंटा बजाया गाया। वहीं, शाम में घरों व मंदिरों में दीप जलाए जाएंगे।

कोरोना को लेकर बुधवार को पूरे बंगाल में संपूर्ण लॉकडाउन है, इसके बावजूद राम मंदिर भूमि पूजन को देखते हुए इस उत्सव का पालन करने की घोषणा विभिन्न संगठनों ने की। हिंदू समर्थित संगठनों के स्वयंसेवकों द्वारा दोपहर 12:30 बजे भूमि पूजन के शुभ मुहूर्त पर शंख ध्वनि की गई और घंटा बजाया गया। इसके साथ ही शाम में घरों में पांच- पांच दीप जलाए जाएंगे। इधर, विभिन्न मंदिरों को भी सजाया गया है और यहां भी दीप जलाए जाएंगे।

इस्कॉन कोलकाता के वाइस प्रेसिडेंट राधारमण ने कहा कि बुधवार को इस्कॉन मंदिर में दिनभर भजन- कीर्तन होगा तथा शाम को दीप जलाए जाएंगे। वहीं, मायापुर इस्कॉन मंदिर के प्रवक्ता सुब्रत दास ने बताया कि मायापुर के प्रसिद्ध चंद्रोदय मंदिर में दिनभर भजन- कीर्तन होगा तथा शाम को दीप मालाएं सजाई जाएंगी। दूसरी ओर, आरएसएस समर्थित रामनवमी आयोजन समिति की ओर से शाम को मंदिरों में दीप जलाने की घोषणा की गई है। इस बाबत सभी स्वयंसेवकों को सूचना दी गई है।

इधर, राज्य में पूर्ण लॉकडाउन एवं राम मंदिर भूमि पूजन को देखते हुए किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए पूरे बंगाल में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। राज्य सरकार ने मंगलवार को ही सभी जिला प्रशासन को इस बाबत निर्देश जारी कर कानून का उल्लंघन करने वालों से सख्ती से निपटने का निर्देश दिया।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि पूर्ण लॉकडाउन को देखते हुए किसी को भी घर से बाहर निकलने की अनुमति, सभा, मंडली, जुलूस आदि की इजाजत नहीं दी जाएगी। अधिकारी ने कहा कि कोलकाता सहित राज्यभर में प्रमुख मंदिरों के बाहर भी सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। 

Posted By: Preeti jha

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस