कोलकाता, राज्य ब्यू्रो। पूर्व रेलवे अंतर्गत रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने सक्रियता दिखाते हुए मां के आंचल को सूना होने से बचा लिया। हावड़ा स्टेशन पर घूम रहे एक गुमशुदा बच्चे को बरामद कर आरपीएफ ने उसकी मां के सुपुर्द कर दिया। सूत्रों के अनुसार बीते दिन आरपीएसएफ की महिला इंस्‍पेक्टर शुष्मिता चौधरी के निर्देशन में हावड़ा आरपीएफ के नॉर्थ पोस्ट‍ में तैनात सब इंस्पेक्टर कौशल कुमार के नेतृत्व मे महिला कांस्टेबल चंद्रिमा महाता की टीम प्लेटफार्म 2 व 3 में चेकिंग कर रही थी।

इसी बीच एक चार वर्षीय बच्चा बदहवास अवस्था में घूमता नजर आया। आरपीएफ ने बच्चे को अपनी हिफाजत में लेकर वहां मौजूद यात्रियों से पूछताछ की तो किसी ने भी बच्चे को अपना नहीं बताया।पूछताछ केंद्र से उदघोषणा भी कराई गई लेकिन कोई सफलता नहीं मिलीं। कुछ देर बाद एक महिला अपने रिश्तेदार के साथ बच्चे को ढूंढती हुई आरपीएफ के पास जा पहुंची।

महिला ने अपना नाम प्रियंका गुप्ता पत्नी सुनील गुप्ता, निवासी- हावड़ा जिले के लिलुआ थाना अंतर्गत भुजंगा धर रोड बताया। वहीं, आरपीएफ द्वारा बरामद बच्चे की पहचान की पुष्टि के बाद बच्चे को मां को सौंप दिया गया। महिला ने खुलासा किया कि 14 फरवरी की दोपहर अचानक उसका बेटा घर से लापता हो गया था। हालांकि उन्होंने इस मामले में बच्चे की गुमशुदगी की शिकायत दर्ज नहीं कराई थी। आरपीएफ ने महिला द्वारा दिखाए गए दस्ताावेजों का सत्यापन करने के बाद बच्चे को उसकी मां के सुपुर्द कर दिया। वहीं, गुम हुए कलेजे के टुकड़े को सही सलामत वापस पाकर मां भावुक हो गईं। उन्होंने आरपीएफ के कार्य की जमकर सराहना करते हुए धन्यवाद किया। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप